जागरण संवाददाता, वाराणसी। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डा. मनसुख मांडवीया ने सोमवार को वाराणसी के मेंहदीगंज में प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना की लांचिंग के दौरान इस योजना की खुबियों को बताया। उन्होंने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत स्वास्थ्य परियोजनाओं के अलावा मेडिकल कालेज की संकल्पना की रूपरेखा भी पेश की। बीमारी के लिए खर्च को कम करने के लिए सरकार के प्रयासों की जानकारी दी। कहा कि भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में लोगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने करोड़ों लोगों को तोहफा दिया है।

डा. मांडविया ने बताया कि देश में पीएम की पहल से स्वास्थ्य क्षेत्र में काफी सुधार हुआ है। खेलो इंडिया, फिट इंडिया, स्वच्छ भारत आदि के जरिए देश के हित में स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी दी। बताया कि अमेरिका में तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा ने ओबामा हेल्थ केयर स्कीम शुरू की थी। उसमें पांच करोड़ लोगों को शामिल किया गया था। वहीं भारत में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश के 50 करोड़ लोगों को आयुष्मान भारत योजना के तहत सौगात दी है। डा. मांडवीया ने बताया कि आज देश में 75 हजार से अधिक वेलनेस सेंटर खुल गए है। हर 4-5 गांव के बीच योगा सेंटर खोला जा रहा है।

मोदी सरकार में 67 फीसद बढ़ी मेडिकल सीटें

स्वास्थ्य मंत्री के भाषण के बाद एक डाक्यूमेंट्री भी दिखाई गई। इसमें बताया गया कि आजादी के बाद से 2014 तक देश में मेडिकल कालेज की संख्या 387 थी, जो मोदी सरकार में बढ़कर अब 581 हो गई है। वहीं देश में पहले मेडिकल की सीटें मात्र 51348 ही थी जो करीब 67 फीसद बढ़कर अब 85825 हो गई हैं। बताया कि देा में 79 हजार हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर खुला है। इस मौके पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय मंत्री डा. महेंद्रनाथ पांडेय, प्रदेश के मंत्री अनिल राजभर, नीलकंठ तिवारी, रविंद्र जयसवाल, बीपी सरोज, सीमा द्विवेदी सहित कई सांसद व विधायक मौजूद थे।

Edited By: Saurabh Chakravarty