जागरण संवाददाता, वाराणसी। सिगरा थानांतर्गत परेडकोठी क्षेत्र स्थित एक गेस्ट हाउस में विषाक्त पदार्थ खाकर अधेड़ यात्री ने अपनी जान दे दी। कमरे से सुसाइट नोट भी मिला। जिसके जरिए मृतक ने मौत की खबर पत्नी को देने की मार्मिक अपील की। पंचनामा भरकर पुलिस ने शव को मोर्चरी में भेज दिया। वहीं, फोरेंसिक एक्सपर्ट टीम ने मौके से साक्ष्य संकलन किया।मिली जानकारी के अनुसार राप्तीनगर (गोरखपुर) स्थित मिलेनियम सिटी निवासी अरुण कुमार सिंह(59) पुत्र ओंकारनाथ सिंह गत पांच अगस्त से परेडकोठी क्षेत्र के होटल हिमालया में ठहरे हुए थे। उन्हे कमरा नंबर - 109 अलॉट किया गया था। पेशे से ठेकेदार अरुण काम के सिलसिले में वाराणसी आए थे।

होटल प्रबंधक ने बताया कि रविवार को सुबह पैसा जमा कराने के लिए उसने दरवाजे पर दस्तक दिया। काफी देर तक आवाज लगाने पर भी कोई जवाब नही मिला। कुर्सी के सहारे रोशनदान से अंदर झांककर देखा तो बिस्तर पर अरुण बेसुध अवस्था में पड़े हुए मिले। अनहोनी की आशंका में इसकी सूचना पुलिस को दी। फोरेंसिक एक्सपर्ट टीम की मौजूदगी में कमरे का दरवाजा तोड़ दिया गया। बिस्तर पर अरुण की लाश पड़ी थी, वहीं पास में एक सुसाइट नोट भी मिला। आत्महत्या के लिए खुद को जिम्मेदार ठहराते हुए अरुण ने अपने मरने की सूचना पत्नी उषा देवी को देने की अपील की। देर रात पहुंचे मृतक के पुत्र शिवा सिंह ने बताया कि उनके पिता की किसी से दुश्मनी नहीं थी, वह पूरी तरह स्वस्थ भी थे। रोडवेज पुलिस चौकी प्रभारी मो सूफियान खान ने बताया कि प्रथम दृष्टया मामला आत्महत्या प्रतीत हो रहा है। कमरे से मिले विषाक्त को परीक्षण के लिए प्रयोगशाला भेजा जाएगा। शव को मोर्चरी में भेज दिया गया है।

दशाश्वमेध थाने में गंदगी पर अपर पुलिस आयुक्त नाराज : अपर पुलिस आयुक्त सुभाष चंद्र दुबे ने रविवार को दशाश्वमेध थाने का आकस्मिक निरीक्षण किया। परिसर में गंदगी देख नाराज हुए। इंस्पेक्टर को चेतावनी दी। पुलिसकॢमयों को अच्छा टर्नआउट और अच्छी यूनिफार्म में रहने के निर्देश दिए। महिलाओं के मामले को लेकर संवेदनशील रहने के लिए कहा। महिला हेल्प डेस्क के साथ कार्यालय का निरीक्षण किया। फरियादियों के साथ शालीनता और शिष्टता से पेश आने के लिए निर्देशित किया।

Edited By: Saurabh Chakravarty