मऊ, जागरण संवाददाता। जिले में दो किशोरी बहनों से साथ पांच युवकों द्वारा सामूहिक दुष्‍कर्म की घटना सामने आई है। नदवा सराया क्षेत्र के एक गांव में दुष्‍कर्म की यह घटना सामने आने के बाद पुलिस के होश उड़ गए। वरिष्‍ठ अधिकारियों के निर्देश पर आनन फानन पुलिस टीम बनाकर आरोपितों को चिन्हित कर गिरफ्तार कर लिया गया है। इस मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज करने के साथ ही सभी को गिरफ्तार कर विधिक कार्रवाई शुरू कर दी गई है। 

मऊ जिले में घोसी क्षेत्र के नदवासराय के एक गांव की दो सगी नाबालिग बहनें शौच के लिए घर से बाहर गई हुई थीं। इस दौरान पहले से ही घात लगाए पांच युवक दोनों किशोरियों को बाजरे के खेत में खींच ले गए। इसके बाद बारी बारी से दोनों बहनों से पांच लोगों ने दुष्‍कर्म किया। किशोरियों के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आने के बाद प्राथमिकी पंजीकृत होते ही कोतवाल नागेश उपाध्याय ने सभी पांच आरोपितों को शनिवार की सुबह लगभग पौने आठ बजे बलुवापोखरा में कलाफनपुर तिराहे के समीप गिरफ्तार कर लिया।

17 वर्षीया डिम्पी (काल्पनिक नाम) सगी बहन 15 वर्षीया रिंपी (कल्पनिक नाम) संग गुरुवार की शाम लगभग आठ बजे शौच के लिए घर के दक्षिण की ओर खेत में गई थीं। वहां पहले से घात लगाए गांव के ही विशाल, अरूण, सुदीन, जितेश व चंद्रकांत ने दोनों बहनों को पकड़ लिया। पांचों आरोपित दोनों बहनों के मुंह पर हाथ रखकर जबरन उठाकर कुछ दूरी पर बाजरा के खेत में ले गए।

खेत में विशाल और जीतेश ने बड़ी बहन जबकि शेष तीन ने छोटी बहन के साथ दुष्कर्म किया। आरोपितों ने इस घटना के बाबत चुप्पी साध लेने को कहने के साथ ही धमकी भी दी। किसी से बताने पर परिवार सहित जान से मार देने की धमकी दी मगर घर पहुंचते ही दोनों बहनों ने अपनी मां को आपबीती बताया। इसके बाद घटना की प्राथमिकी पंजीकृत कर कोतवाल उपाध्याय ने पांचों को कलाफनपुर तिराहे से कहीं भागने के पूर्व ही हमराही सिपाहियों के सहायोग से दौड़ाकर दबोच लिया। सभी पांचों को चिकित्सकीय परीक्षण के बाद न्यायालय भेज दिया गया गया।

Edited By: Abhishek Sharma