मीरजापुर, जेएनएन। कटरा कोतवाली और क्राइम ब्रांच पुलिस ने नेपाल से हेरोईन लाकर जनपद में घूम-घूम कर बेचने वाले चार आरोपितों को धर दबोचा है। कोतवाली क्षेत्र के यूनिक ट्रेवेल्स एजेन्सी आशीष भवन के बगल गैलरी मुसफ्फरगंज में छापेमारी के दौरान पकड़े गए आरोपितों के पास से करीब 110 ग्राम हेरोईन बरामद हुई है। सभी के विरुद्ध एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला पंजीकृत कर आरोपितों को जेल भेज दिया है। ये बाते पुलिस अधीक्षक ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान बताई।

उन्होंने बताया कि पिछले कुछ दिनों से सूचना मिल रही थी कि कुछ लोग जनपद में मादक पदार्थ को बेचने का काम कर रहे हैं। जिसकी चपेट में नगर के युवा आ रहे हैं। मामले को गंभीरता से लेते हुए एएसपी सिटी प्रकाश स्वरुप पांडेय के निर्देश पर सीओ नगर सुधीर के नेतृत्व में स्वाट टीम के प्रभारी रामस्वरुप वर्मा व कटरा कोतवाल रमेश यादव तथा लालडिग्गी चौकी प्रभारी शाहिद खान को लगाया गया। बुधवार को सूचना मिली कि चार आरोपी नगर के मुसफ्फरगंज के पास खड़े होकर लोगों को हेराईन बेच रहे हैं। जानकारी होते ही टीम वहां पहुंची और आशीष भवन के गैलरी में घेराबंदी कर चार आरोपितों को दबोच लिया। पूछताछ के दौरान आरोपितोंं ने बताया कि वह लोग गाजीपुर और नेपाल से मादक पदार्थ लाकर मीरजापुर और भदोही में बेचने का काम करते हैं। ग्राइकों के पास उनका नंबर होता है। उनको जब भी इसकी जरुरत होती है तो फोन करके हम लोगों का लोकेशन लेते है। जहां पर रहते हैं वहीं आकर ले ले हैं। बताया कि महीने में 10 से 20लाख रुपये की हेराईन बेचते हैं। पकड़े गए आरोपितों में राजेश कुमार बिन्द उर्फ गौरी पुत्र बलवन्ता बिन्द निवासी मोहनपुर पडऱी, आशुतोष जायसवाल उर्फ टुन्ना पुत्र आशीष जायसवाल निवासी जायसवाल भवन मुसफ्फरगंज, अभिजीत निषाद पुत्र रमेश निषाद निवासी अमानगंज गैवीघाट, राहुल मिश्रा उर्फ गोलू पुत्र नन्द किशोर मिश्रा निवासी अमानगंज गैवीघाट शामिल है।  राजेश बिंद पहले भी कई मामले में जेल जा चुका है। इसके खिलाफ जीआरपी में चोरी, पडऱी थाने में एनडीपीएस व देहात कोतवाली में विभिन्न धाराओं में मुकदमे दर्ज है।

 

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस