वाराणसी, जेएनएन। पूर्वांचल में लगातार रह रहकर हो रही बरसात के बावजूद भी गंगा नदी में घटाव का रुख बना होने से तटवर्ती इलाकों में राहत है। वाराणसी में गंगा अब घाटों से नीचे उतरने लगी हैं, कई दिनों से बलिया जिले में खतरा बिंदु से ऊपर बह रही गंगा अब चेतावनी बिंदु पर आ गई हैं हालांकि घटाव का रुख होने से दो दिनों में नदी का जलस्‍तर चेतावनी बिंदु से भी नीचे जाने की संभावना है। हालांकि चिंता की एकमात्र बात यह भी है कि शहजादपुर में गंगा का रुख अभी भी बढ़ाव की ओर है और फाफामऊ में गंगा घटाव के बाद अब स्थित हो गई हैं। अगर अभी भी वहां गंगा में जलस्‍तर में बढोतरी हुई तो पूर्वांचल में गंगा का रुख एक बार फ‍िर से बढ़ाव की ओर हो सकता है।

वहीं दूसरी ओर वाराणसी में गंगा की सहायक नदी वरुणा में भी जलस्‍तर कम हो गया है और तटवर्ती इलाकों से पलायन कर रहे लोग घरों में वापस आ गए हैं। कई निचले इलाकों में जहां जलभराव की समस्‍या हुई थी वहां भी लोग अब घरों को लौट रहे हैं। गंगा अब घाटों से नीचे उतरने लगी हैं हालांकि गंगा अपने पीछे कीचड़ और गाद भी छोड़ती हुई जा रही हैं ऐसे में तटवर्ती इलाकों में साफ सफाई की भी शुरूआत संगठनों की ओर से इन दिनों चल रही है। बलिया जिले में सोमवार को गंगा खतरा बिंदु से नीचे आ गईं और वहां अब भी घटाव का रुख बना हुआ है। दूसरी ओर घाघरा नदी में भी घटाव का रुख बना हुआ है। हालांकि तटवर्ती निचले इलाकों में फसलें अब भी पानी में डूबी हुई हैं। लंबे समय तक जलभराव की स्थिति रही तो फसलाें को नुकसान होने की पूरी संभावना है। 

पूर्वांचल में गंगा नदी का रुख

जिला

खतरा चेतावनी वर्तमान रुख
मीरजापुर 77.72 76.724 72.16 घटाव
वाराणसी 71.26 70.26 67.02 घटाव
गाजीपुर 63.10 62.10  60.66 घटाव
बलिया 57.61 56.61  57.04 घटाव

   

Posted By: Abhishek Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप