वाराणसी, जेएनएन। कन्या भ्रूण हत्या के विरुद्ध तथा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के प्रति समुदाय में जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से राष्ट्रीय बालिका दिवस प्रत्येक वर्ष 24 जनवरी को मनाया जाता है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा इस वर्ष कन्या भ्रूण हत्या रोकने को अभियान संचालित किया जाएगा। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने  मुखबिर योजना को कड़ाई से संचलित करने का निर्देश दिया। 

डीएम ने कहा कि नियमानुसार सूचना देने वालों का नाम व पता गोपनीय रखा जाए। तीन किस्तों में उनको प्रोत्साहन राशि भी प्रदान की जाए। निर्देशित किया कि 'डिक्वोय ऑपरेशन' के माध्यम से एक रणनीति बनाकर भ्रूण की लिंग जांच में लिप्त व्यक्तियों, संस्थाओं अथवा अल्ट्रासाउंड केंद्रों के खिलाफ विशेष अभियान चलाएं। दोषी मिलने पर पीसीपीएनडीटी एक्ट के तहत कार्रवाई की जाए। 

सीएमओ डा. वीबी सिंह ने बताया कि जनपद में 300 से अधिक रजिस्टर्ड अल्ट्रासाउंड सेंटर संचालित हैं। इनकी समय पर जांच की जाती है। बाल लिंगानुपात कम होना चिंता का विषय है। एसीएमओ डा. पीपी गुप्त ने बताया कि सरकार द्वारा अवैध लिंग जांच में लिप्त अपराधियों को पकडऩे के लिए मुखबिर योजना बनाई है। जन सामान्य की सहभागिता सुनिश्चित करना उद्देश्य है। यह योजना पूर्ण रूप से डिजिटल और गोपनीय है। 

बाल लिंगानुपात (0 - 6 वर्ष)

जिला 2001 2011
वाराणसी 919 885
गाजीपुर 934 908
चंदौली 937 911
जौनपुर 930 918

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस