वाराणसी, जेएनएन। मुख्य निर्वाचन अधिकारी के निर्देश के बाद भी मतदाता जोड़ो विशेष अभियान पहले दिन ही फेल हो गया। मतदान केंद्रों पर कहीं आवेदन फार्म नहीं थे तो कहीं निर्वाचन कार्य में लगे कर्मचारी गायब थे। वहीं, अव्यवस्था के चलते मतदाताओं ने भी अपना नाम मतदाता सूची में दर्ज कराने में रुचि नहीं दिखाई। जिला निर्वाचन अधिकारी सुरेंद्र सिंह के निर्देश के बाद भी मानीटरिंग में लगे अधिकारियों ने कुछ मतदान केंद्रों का निरीक्षण कर रस्म अदायगी की।  

मतदान केंद्रों पर सुबह 10 से शाम चार बजे तक बीएलओ को मौजूद रहने का निर्देश था। उन्हें नए मतदाताओं का नाम जोडऩे, नाम संशोधित करने तथा मृतक और दूसरे शहर में रहने वाले मतदाताओं का नाम काटने आदि का आवेदन फार्म लेना था। बड़ागांव विकास खंड के ज्यादातर मतदान केंद्र मछलीशहर संसदीय क्षेत्र में पड़ते हैं। बड़ागांव मतदान केंद्र पर तैनात बीएलओ का कहना है कि हमें कोई फार्म नहीं मिला है। फोटो स्टेट पर किसी तरह काम किया जा रहा है। बड़ागांव में बूथ संख्या 307, 308 और 389 पर तैनात तीनों बीएलओ गायब थे। मतदान केंद्र सुभद्रा कुमार इंटर कालेज बसनी में 331 से 337 तक सात बूथों से कुल 40 फार्म भरे गए। मतदान केंद्र बलदेव इंटर कालेज पर बूथ संख्या 310 से 318 तक कुल 14 फार्म, प्राथमिक विद्यालय पर बूथ संख्या  307 से 309 पर दो फार्म भरे गए जिसमें एक मृतक का नाम था।

प्राथमिक विद्यालय रामपुर में तीन फार्म भरे गए। चोलापुर बूथ पर एक महिला बीएलओ गायब थी। रोहनिया विधानसभा क्षेत्र के शिवदासपुर गांव के स्थानीय ब्लाक मुख्यालय पर बने बूथ पर दोपहर दो बजे तक मतदाता सूची में नाम दर्ज करने, नाम संशोधित करने के कुल 15 आवेदन फार्म आए। इसी विधानसभा में नुआंव, कुरहुआ तो शिवपुर विधानसभा क्षेत्र के हरपालपुर, चांदपुर गांव समेत कई गांवों के बूथों पर मतदाताओं की संख्या नहीं के बराबर थी। सारनाथ स्थित महाबोधि इंटर कालेज में आठ बीएलओ मौजूद थे, यहां छह फार्म नाम संशोधित करने तथा एक मतदाता सूची में नाम दर्ज कराने के लिए आए। केंद्रीय उच्च तिब्बती शिक्षा संस्थान में चार बीएलओ में दो गायब थे।  

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस