गाजीपुर, जेएनएन। मुहम्मदाबाद स्थित शहीद पार्क में शुक्रवार को आयोजित कृष्णानंद राय के 14वें शहादत दिवस पर श्रद्धांजलि समारोह में सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त ने गाजीपुर लोकसभा चुनाव में मनोज सिन्हा के हार को मुस्लिम देशों की साजिश से जोड़ा। आरोप मढ़ा कि दुनिया के मुस्लिम देशों के लोग गाजीपुर की राजनीति में हस्तक्षेप करते हैं। रुपये और पिस्तौल दोनों मुस्लिम देशों से आते हैं।

वीरेंद्र सिंह मस्त ने आरोप लगाया कि गाजीपुर लोकसभा चुनाव में मुस्लिम देशों से पैसा और पिस्तौल आए थे, जिससे चुनाव प्रभावित किए गए। मुस्लिम देशों से लाभ पाने वाले ही कृष्णानंद राय व साथियों की हत्या किए। हुंकार भरा कि यह लड़ाई चलती रहेगी। कृष्णानंद राय ने जिस जंग को शुरू की थी उसका अंत किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अत्याचार करना व सहना दोनों समान है। विधायक कृष्णानंद राय ने रुपये व पिस्तौल के खिलाफ आंदोलन किया। लोकतंत्र के अधिकारों को जब रुपये व पिस्तौल से लूटा जा रहा था तो वह विरोध में खड़ा हुए। उनकी शहादत कभी व्यर्थ नहीं जाएगी। कृष्णानंद राय के सपनों को अधूरा नहीं रहने दिया जाएगा। कृष्णानंद राय ने जिस जंग को शुरू की थी उसका अंत किया जाएगा।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस