वाराणसी, जेएनएन। कोरोना वायरस को लेकर पूर्वांचल के जिले अब सतर्क हो गए हैं। चीन से लौटे अब तक 16 पूर्वांचन लोगों का स्‍वास्‍थ्‍य परीक्षण किया गया। इसमें जौनपुर के 11, भदोही के तीन और वाराणसी के दो लोगों को मामला सामने आया। स्वास्थ्य परीक्षण के बाद इनमें से किसी में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं दिखे। सभी पूर्णतया स्वस्थ हैं। बढ़ती संख्‍या को देखते हुए स्वास्थ्य महकमा अब सतर्क हो गया है। स्वास्थ्य विभाग व डब्ल्यूएचओ की टीम ने सूची के आधार पर संबंधित के आवास पर जाकर परीक्षण कर रहे हैं। 

चीन से लौटे जौनपुर के 11 लोगों का हुआ परीक्षण

कोरोना वायरस को लेकर जनपद का स्वास्थ्य महकमा सतर्क हो गया है। मंगलवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन व स्वास्थ्य विभाग की टीम ने चीन यात्रा से लौटे 11 लोगों का परीक्षण किया। जबकि जिले में न आने वाले तीन यात्रियों के बारे में संबंधित मुख्य चिकित्साधिकारी को पत्र भेजा गया है। जौनपुर के 14 लोग तीन जनवरी से 29 जनवरी के बीच चीन से आये हैं। इनमें खुटहन व बदलापुर क्षेत्र के एक-एक लोग नेवी में व एक मुफ्तीगंज, डोभी, रामनगर व मुंगराबादशाहपुर के एक-एक हैं। महराजगंज के दो छात्रों समेत आठ मेडिकल की वहीं पढ़ाई कर रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग व डब्ल्यूएचओ की टीम ने सूची के आधार पर संबंधित के आवास पर जाकर परीक्षण किया।

संचारी रोग प्रभारी जियाउल हक ने बताया कि जनपद में आये 11 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। इनमें किसी में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं दिखे। सभी पूर्णतया स्वस्थ हैं। जनपद में न आने वाले तीन व्यवसायी वाराणसी, गाजियाबाद और फरीदाबाद में रह रहे हैं। संबंधित जनपदों के सीएमओ को इनके बारे में पत्र के माध्यम से जानकारी दे दी गई है। उन्होंने बताया कि चीन से आने वालों को घर के हवादार कमरे में रहने, कम से कम तीन-चार बार हाथ धुलने और हाथ को मुंह व नाक के दूर रखने के लिए कहा गया है। सर्दी-जुखाम, सांस लेने में दिक्कत होने पर तुरंत नजदीक के अस्पताल से संपर्क करने की भी सलाह दी गई है।

भदोही में चीन से लौटे तीन लोगों के घर पहुंचे डॉक्टर

चीन से निकला जानलेवा वायरस कोरोना की आहट पर भदोही प्रशासन सोमवार को देर शाम एक पैरों पर खड़ा हो गया। भदोही निवासी तीन नागरिकों के वापस लौटने की सूचना पर प्रशासन अलर्ट हो गया। स्थानीय प्रशासन ने तीनों नागरिकों के घर पर सीएमओ की टीम ने दस्तक दी है। लोकमनपुर निवासी अनूप कुमार पांडेय 22 जनवरी, दयालपुर दुर्गागंज के आलोक उपाध्याय पांच जनवरी और शहर के काजीपुर निवासी सोहैल इम्तियाज 19 जनवरी को चीन से वाया फ्लाइट कोलकाता एयरपोर्ट पहुंचे। यहां तीन घंटे तक उनका मेडिकल परीक्षण हुआ। वे बाबतपुर एयरपोर्ट पर प्लेन से पहुंचे। एयरपोर्ट अथारिटी ने सीएमओ भदोही को इनके लौटने की सूचना साझा की तो महकमा अलर्ट हो गया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अधीक्षक डॉ. आरबी पाठक के नेतृत्व में लोकमनपुर पहुंची टीम ने अनूप कुमार का मेडिकल परीक्षण किया। आलोक उपाध्याय अभी कोलकाता में हैं। इनके घर पहुंच कर टीम ने आलोक से फोन पर बात किया। भदोही निवासी इम्तियाज के घर पर भी टीम ने जांच की है। बातचीत और मेडिकल रिपोर्ट में तीनों नागरिकों को सुरक्षित बताया गया है। उनमें वायरस का प्रभाव नहीं होने के लक्षण मिले हैं। सीएमओ ने रिपोर्ट डीएम को सौंप दी है।

चीन से वाराणसी लौटे दूसरे यात्री ने भी कराया स्वास्थ्य परीक्षण

चीन से लौटे लहरतारा निवासी 52 वर्षीय व्यक्ति का भी सोमवार को पं. दीनदयाल उपाध्याय राजकीय अस्पताल में स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। अस्पताल के फिजीशियन डा. अश्वनी कुमार ने आइसोलेशन वार्ड में सघन जांच की। इस दौरान कोरोना के कोई लक्षण नहीं मिले जिसके बाद उन्होंने गले में हुए खरास को लेकर जरूरी दवाएं देते हुए घर जाकर आराम करने की सलाह दी। सोमवार को चीन से आए भोजूबीर निवासी युवक की जांच पं. दीनदयाल अस्पताल में होने की जानकारी अखबार में पढ़कर हुई तो मंगलवार को वह भी जांच कराने पहुंच गए। उन्होंने पूरी बात बताई तो डाक्टर सतर्कता बरतते हुए उन्हें आइसोलेशन वार्ड में ले गए जहां उनकी जांच की।

एलबीएस एयरपोर्ट पर 11 दिन में 1248 की स्क्रीनिंग

कोरोना वायरस को लेकर लाल बहादुर शास्त्री अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर विदेश से आने वाले सभी यात्रियों की जांच-पड़ताल का क्रम जारी है। अधिकारियों के मुताबिक 24 जनवरी से तीन फरवरी तक विदेश से आने वाले सभी 1248 यात्रियों की गंभीरतापूर्वक स्क्रीनिंग की गई। अब तक किसी में भी कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए हैं।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस