वाराणसी, जेएनएन। जिले में कोविड-19 टीकाकरण महाभियान चरणबद्ध तरीके से चल रहा है। एक मई से 18 वर्ष से 44 वर्ष तक लाभार्थियों काे भी टीका लगाना शुरू कर दिया गया। मगर शासन से बेहद कम मात्रा में वैक्सीन मिलने के चलते सीमित केंद्रों पर ही 44 से कम उम्र वालों को पंजीयन कराने के बाद टीका लग पा रहा है। वहीं दूसरी डोज का टीका लगवाने वालों की अनियंत्रित संख्या के चलते बुधवार को भी पहले से पंजीयन करा कर पहुंचे कई लाभार्थियों को वैक्सीन खत्म हो जाने के चलते वापस लौटना पड़ा। अनियंत्रित भीड़ को रोकने के लिए केंद्रों पर रिवर्स क्रम में टोकन बांटे जाएंगे, ताकि वैक्सीन की उपलब्धता का लोगों को सही से पता रहे और वे बेवजह भीड़ लगाने से बचें

44 वर्ष से कम एवं 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को पहली खुराक लेने के लिए पंजीकरण कराना अनिवार्य है। सीएमओ डा. वीबी सिंह ने बताया कि दूसरी डोज लेने वालों की संख्या अधिक है। चूंकि वे किसी भी केंद्र पर जाकर अपना पहले का रेफरेंस नंबर बताकर दूसरी डोज का टीका लगवा सकते हैं। इस कारण किसी-किसी केंद्र पर भीड़ उमड़ रही है। अब से सभी केंद्रों पर क्षमता के हिसाब से टोकन बांटकर लोगों का टीकाकरण कराया जाएगा। जनपद में गुरुवार, 13 मई को 17 केंद्रों पर 44 वर्ष से कम उम्र के लोगों को कोवैक्सीन का टीका लगाया जाएगा। वहीं 45 वर्ष से अधिक उम्र के लाभार्थियों के लिए कुल 55 केंद्रों पर टीकाकरण सत्र आयोजित होंगे। इन केंद्रों पर कोविशील्ड का टीका लगाया जाएगा।

इन केंद्रों पर 44 से कम उम्र वालों को लगेगा कोवैक्सीन का टीका

केंद्र डोज क्षमता

- सीएचसी नरपतपुर 100

- सीएचसी मिशिरपुर 200

- पीएचसी बड़ागांव 100

- सेंट्रल हास्पिटल बरेका 200

- पीएचसी पिंडरा 150

- यूसीएचसी चौकाघाट 200

- सीएचसी हाथी बाज़ार 150

- आयुर्वेदिक कॉलेज 200

- पीएचसी सेवापुरी 150

- अर्बन सीएचसी शिवपुर 200

- सीएचसी चोलापुर 200

- महिला अस्पताल 200

- पीएचसी हरहुआ 200

- बीएचयू हास्पिटल 200

- सीएचसी आराजीलाइन 200

- एलबीएस हास्पिटल रामनगर 200

- पीएचसी मिर्जामुराद 200

इन केंद्रों 45 से अधिक उम्र वालों को लगेगा कोविशील्ड का टीका

केंद्र डोज क्षमता

- बीएचयू हास्पिटल 500

- आयुर्वेदिक कालेज 300

- एलबीएस हास्पिटल 150

- ईएसआइसी हास्पिटल 300

- एसएसपीजी कबीरचौरा 100

- यूसीएचसी चौकाघाट 200

- यूसीएचसी दुर्गाकुंड 200

- यूसीएचसी शिवपुर 200

- रामकृष्ण मिशन 100

- मारवाड़ी हास्पिटल 100

- माता आनंदमई 100

- बिरला हास्पिटल 100

शहरी क्षेत्र के इन केंद्रों पर लगेगाी कोवैक्सीन

केंद्र डोज क्षमता

- अर्बन सीएचसी शिवपुर 100

- एसवीएम हॉस्पिटल भेलूपुर 100

- मेडिकल केयर यूनिट 100

- मंडलीय हास्पिटल एनईआर 100

ग्रामीण क्षेत्र के इन केंद्रों पर लगेगी कोवैक्सीन

केंद्र डोज क्षमता

- पीएचसी राजातालाब 100

- सीएचसी हाथी बाजार 100

- सीएचसी चोलापुर 100

- सीएचसी नरपतपुर 100

- पीएचसी बड़ागांव 100

- पीएचसी पिंडरा 100

- पीएचसी हरहुआ 100

ग्रामीण क्षेत्र के इन केंद्रों पर लगेगी कोविशील्ड

केंद्र डोज क्षमता

- सीएचसी अराजीलाइन 150

- मिर्जामुराद 150

- पीएचसी महगांव 100

- पीएचसी गंगापुर 100

- पीएचसी पयागपुर 100

- पीएचसी जगरदेवपुर 100

- पीएचसी बड़ागांव 150

- सीएचसी बिरांवकोट 100

- पीएचसी बरई नेवादा 100

- पीएचसी देवचंदपुर 100

- पीएचसी दांदूपुर 100

- पीएचसी चिरईगांव 150

- पीएचसी कादीपुर 100

- पीएचसी छितौनी 100

- पीएचसी गोबरहन 100

- पीएचसी सारनाथ पतेरवां 150

- सीएचसी चोलापुर 150

- पीएचसी दानगंज 100

- पीएचसी नियारडीह 100

- सीएचसी धरहरा 100

- पीएचसी हरहुआ 150

- सीएचसी पुवारीकलां 100

- पीएचसी पिंडरा 100

- सीएचसी गंगापुर पिंडरा 100

- पीएचसी काशीपुर 100

- सीएचसी गजोखर 100

- पीएचसी काशी विद्यापीठ 200

- सीएचसी मिशिरपुर 100

- सेंट्रल हास्पिटल बरेका 300

- पीएचसी सेवापुरी 200

- पीएचसी डोमैला 100

- हेल्थ वेलनेस सेंटर पूरे 100

- हैल्थ वेलनेस सेंटर गजापुर 100

7966 लाभार्थियों को लगा कोरोना टीका

- सीएमओ डा. वीबी सिंह ने बताया कि बुधवार को 45 वर्ष से अधिक उम्र के लाभार्थियों के लिए 72 सत्रों का आयोजन कर 7966 को टीका लगाया गया। इसमें से 4878 लाभार्थियों को प्रथम व 3088 को दूसरी डोज का टीका लगाया गया। वहीं 17 केंद्रों पर 44 वर्ष से कम उम्र के 2716 लाभार्थियों को प्रतिरक्षित किया गया।

आज सभी ब्लाकों के चिन्हित गांवों में होगी कोरोना जांच

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को रोकने एवं ग्रामीण क्षेत्र में संक्रमण के प्रभाव को कम करने के लिए जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग की ओर से प्रत्येक स्तर पर प्रयास किया जा रहा है। इसी क्रम में बुधवार को जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के निर्देशन में सर्किट हाउस में मुख्य विकास अधिकारी मधुसूदन हुलगी एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. वीबी सिंह ने बैठक कर ग्रामीण क्षेत्र में लक्षण युक्त व्यक्तियों की जांच करने के लिए प्रभारी चिकित्साधिकारियों एवं खंड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया गया।

इन गांवों में होगी जांच

- चिरईगांव के खेतलपुर, रमगढ़वा, खरगीपुर, विकापुर, तरया, व्यासपुर, चुकहा, मुरीदपुर, सोनवर्षा, परनापुर, कमौली, तातेपुर, सिंघवार।

- बड़ागांव ब्लॉक के बड़ागांव, अनेई, बसनी, छोड़ापुर, काबिरामपुर, पुरापुर, दसनपुर, कठिरांव, हमीरापुर, कोईलार।

- आराजीलाइन के जखनी, मेहदीगंज, जयापुर, शहंशाहपुर, गंगापुर, बभनियांव, असवारी, भिखीपुर, गौर, कचनार, खेवली, रानीबाजार, राजपुर।

- काशी विद्यापीठ ब्लॉक के ककरहिया, लखनीपुर, भरथरा, घमहापुर, कोटवा, मंगलपुर, तड़िया, सरहरी, बनकट, अनंतपुर, छितौनी, बखरिया, सुरही, घाटमपुर, अलाऊद्दीनपुर, कोरौता, उचगांव, महमूदपुर, भट्टी, धन्नुपुर।

- हरहुआ ब्लॉक के हरहुआ, दासेपुर, सिंघापुर, वाजिदपुर, प्रतापपट्टी, अवसानपुर, चक्का, करोमा, अनौरा, कोइराजपुर, चमाव, भेलखा।

- चोलापुर ब्लॉक के चोलापुर, नियारडीह, सुल्तानीपुर, पहाड़पुर, मुरली, हथियरकला, भेढूद, सहडीह, बेला, देईपुर।

- सेवापुर ब्लॉक के बरेमा, हाथी, भटौली, जगापट्टी, भिटकुरी, पूरे, डोमैला, ठठरा, छतरीभानपुर, सिखड़ी, भिखमपुर, मटुका, दिलावलपुर, खगरामपुर, भोरकला, कपसेठी, बनकट, लोहराडीह, गजापुर, मड़ैया।