वाराणसी, जेएनएन। दशाश्वमेध प्लाजा का निर्माण अगले सप्ताह शुरू होने जा रहा है। वाराणसी विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष राहुल पांडेय का दावा है कि निर्माण कार्य एक वर्ष में पूर्ण कर लिया जाएगा जो अन्य प्लाजा निर्माण के लिए नजीर भी होगा। निर्माण को लेकर सरगर्मी के बीच राजस्व शेयर पर भी मंथन तेज हुआ है।

तय हुआ है कि दशाश्वमेध प्लाजा के निर्माण में 49 फीसदी राजस्व शेयर विकास प्राधिकरण का होगा जबकि 51 फीसदी हिस्सेदारी वाराणसी स्मार्ट सिटी कंपनी का रहेगा। प्लाजा संचालन व प्रबंधन के लिए एसपीवी यानी स्पेशल परपज व्हेकिल गठन के लिए शेयरधारकों में सहमति भी बन गई है। अब इसे वीडीए बोर्ड की बैठक में रखकर इसका अनुमोदन कराया जाएगा। उधर, इसी सप्ताह दशाश्वमेध प्लाजा का निर्माण शुरू कराना है। इसके लिए फर्म तय हो गई है। 26.58 करोड़ की इस परियोजना को एक साल में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। तीन मंजिल बनने वाले इस भवन निर्माण को लेकर सारी तैयारियां पूरी हो गई है। वीडीए उपाध्यक्ष राहुल पांडेय ने बताया कि जितने भी अनापत्ति प्रमाण-पत्र है उनको मंगा लिए गए हैं। वहीं, साईट पर बिल्डिंग मैटेरियल्स गिराया जा चुका है। बस काम शुरू कराने का इंतजार है।

दशाश्वमेध प्लाजा का निर्माण एक सप्ताह में शुरू होगा। इसके साथ स्थानीय मछली मंडी भी रत्नाकर मार्केट में शिफ्ट की जाएगी। योजना को मूर्तरूप देने के लिए वाराणसी विकास प्राधिकरण टाउन प्लानर मनोज कुमार  के अनुसार प्रस्ताव के मुताबिक दशाश्वमेध प्लाजा का तीन मंजिला भवन बनेगा। ग्राउंड फ्लोर पर नीचे दुकानें होंगी तो पहली मंजिल पर श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर प्रशासन का हेल्प डेस्क होगा। दूसरे तल पर विभागीय कार्यालय बनाए जाएंगे। तीसरी मंजिल पर ओपेन रेस्टोरेंट बनेगा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस