बलिया, जेएनएन। नगर पंचायत मनियर की ईओ रही मणिमंजरी राय प्रकरण में पुलिस ने मंगलवार की शाम को रोडवेज बस स्टैंड के पास से आरोपित कंप्यूटर आपरेट अखिलेश राम को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस को लंबे समय से इनकी तलाश चल रही थी। इस घटना के आरोपित नगर पंचायत मनियर के अध्यक्ष भीम गुप्ता व पूर्व ईओ संजय राव अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है।

6 जुलाई की रात को नगर पंचायत मनियर की ईओ मणि मंजरी राय का शव शहर के आवास विकास कालोनी स्थित किराए के मकान में लटकता हुआ मिला था। पुलिस ने इस मामले में तत्काल चालक चंदन कुमार को गिरफ्तार कर लिया था। इस मामले में आरोपित नगर पंचायत अध्यक्ष, कंप्यूटर आपरेटर व लिपिक फरार चल रहे थे। इसमें लिपिक पहले से ही हाईकोर्ट से जमानत पर है। पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए कई टीम गठित की है। सदर कोतवाल विपिन ङ्क्षसह को मुखबिर से सूचना मिली कि कंप्यूटर आपरेटर अखिलेश राम रोडवेज पर बस पकडऩे आया हुआ है। इस पर वह अपनी टीम के साथ पहुंच कर उसे गिरफ्तार कर लिया। ईओ मणिमंजरी के भाई कौशलेश राय ने बताया कि न्यायालय से कुर्की का आदेश मिलने के बाद भी पुलिस इन सभी पर कार्रवाई नहीं कर रही है।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस