वाराणसी, जेएनएन। कोरोना की जांच को लेकर अब चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि घर बैठे ही आपको संक्रमण है या नहीं, की जांच हो सकती है। जिले की तीन निजी पैथलॉजी को यह कार्य सौंपा गया है। पंजीकृत डाक्टरों की सलाह पर जांच कराना संभव होगा। इसके लिए मरीज का आधार नंबर जरूरी किया गया है।

कोरोना के बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए प्रदेश सरकार ने निजी पैथलॉजी को भी जांच करने का आदेश दिया है। इसके मद्देनजर सीएमओ डा. वीबी सिंह ने तीन पैथालॉजी एसआरएल लिमिटेड, लाल पैथ लैब व कोर डायग्नोस्टिक प्राइवेट लिमिटेड को जांच की अनुमति 21 मई को दे दी है लेकिन आइसीएमएस की ओर से जारी एसआरएस आइडी जारी नहीं होने से कार्य शनिवार को शुरू हो सका। घर या निजी हॉस्पिटल से जांच कराने के लिए पंजीकृत डाक्टर की सलाह के साथ ही मरीज का आधार नंबर होना जरूरी है। निजी पैथलॉजी में जांच कराने के लिए गाइडलाइन के अनुसार 4500 रुपये अदा करने होंगे। निजी पैथलॉजी से हुई जांच रिपोर्ट को आइसीएमआर, सीएमओ कार्यालय, आइडीएफ वाराणसी व आएमए बनारस के अध्यक्ष डा. आलोक भारद्वाज के मेल पर साझा किया जाएगा।

लाल पैथ ने एक, एसआरएल ने लिए चार सैंपल

पहले दिन शनिवार को लाल पैथ लैब ने एक सैंपल लिया। जांच के लिए महमूरगंज के एक निजी अस्पताल के डाक्टर ने सलाह दी थी। इसके अलावा एसआरएल लैब ने चार सैंपल लिए। इसमें दो इंद्रा आइवीएफ व दो ओपल हॉस्पिटल से लिए गए।

एक दिन पहले करानी होगी बुकिंग

तय तीनों निजी पैथलॉजी में जांच कराने के लिए संबंधित हॉस्पिटल या व्यक्ति को एक दिन पूर्व ही बुकिंग करानी होगी। एसआरएल के अधिकारी जगदीश दुबे ने बताया कि सैंपलिंग का कार्य सुबह आठ से दोपहर दो बजे तक होगी। एक एप के जरिए जांच कराने वाले मरीज को जिम्मेदार महकमा, अफसर व संस्था लाइव देख सकेंगे।

लाल पैथ सिर्फ महिलाओं की घर पर लेगा सैंपल

लाल पैथ लैब के अधिकारी प्रदीप ने बताया कि उनकी ओर से घर पर जाकर व्यक्ति का सैंपल लेने के लिए मना किया गया है। सिर्फ महिलाओं का ही वे घर पर सैंपलिंग कराएंगे जबकि एसआरएल लैब पंजीकृत डाक्टर के परामर्श पर महिला व पुरुष दोनों का सैंपल लेगा। इसके लिए संबंधित व्यक्ति को एक फार्म भरना होगा।   

   

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस