Move to Jagran APP

एनएसयूआइ, समाजवादी छात्र सभा कार्यकर्ताओं व पुलिस के बीच धक्का-मुक्की, ADCP को सौंपा एनटीए को भंग करने का ज्ञापन

Neet Paper Leak नीट रद करने व एनटीए को भंग करने की मांग को लेकर प्रधानमंत्री के जवाहर नगर स्थित संसदीय कार्यालय में ज्ञापन देने जा रहे भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन समाजवादी छात्र सभा के कार्यकर्ताओं व पुलिस के पबीच गुरुधाम चौराहे पर जमकर धक्का-मुक्की हुई। पुलिस द्वारा रोकने पर कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी शुरू कर दी व धरना प्रदर्शन किया।

By devendra nath singh Edited By: Abhishek Pandey Tue, 09 Jul 2024 08:19 AM (IST)
विरोध कर रहे सपा व एनएसयूआई के छात्रों को उठा कर ले जाते पुलिसकर्मी । जागरण

संवाद सहयोगी, वाराणसी। भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन व समाजवादी छात्र सभा के कार्यकर्ताओं व पुलिस के बीच सोमवार को गुरुधाम चौराहे पर जमकर धक्का-मुक्की हुई। नीट रद करने व एनटीए को भंग करने की मांग को लेकर प्रधानमंत्री के जवाहर नगर स्थित संसदीय कार्यालय ज्ञापन देने जा रहे कार्यकर्ताओं को रोकने पर वह नारेबाजी व धरना प्रदर्शन करने लगे।

पुलिस ने बड़ी मुश्किल से उन्हें पकड़कर पुलिस वाहनों में बैठाया। इस दौरान चौराहे के आसपास अफरा-तफरी का माहौल रहा और वाहनों का आवागमन बंद रहा।

पुलिस बल पहले से ही था सतर्क

कार्यकर्ताओं के पूर्व घोषित कार्यक्रम के देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस व पीएसी के जवान संसदीय कार्यालय से पहले गुरुधाम चौराहे पर तैनात हो गए। जवाहर नगर कालोनी की तरफ जान वाले रास्ते को बैरिकेडिंग करके बंद कर दिया था।

भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन के अध्यक्ष ऋषभ पांडेय के नेतृत्व में कार्यकर्ता अपराह्न तीन बजे गुरुधाम चौराहे से संसदीय कार्यालय की ओर बढ़े तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया। कार्यकर्ता वहीं धरने पर बैठ गए और केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। पुलिस ने उन्हें वहां हटाने का प्रयास किया तो धक्का-मुक्की शुरू हो गई।

कार्यकर्ता बैरिकेडिंग के आगे जाने की कोशिश करने लगे। उन्हें पकड़ने के लिए पुलिस ने पूरी ताकत लगा दी। कार्यकर्ता और एसीपी भेलूपुर धनंजय मिश्र के साथ ही कई पुलिसकर्मी सड़क पर गिरकर गुत्थम-गुत्था करने लगे।

कार्यकर्ताओं ने एडीसीपी को सौंपा ज्ञापन

पुलिसकर्मियों की संख्या अधिक थी। उन्होंने कार्यकर्ताओं को हाथ-पैर पकड़कर उठाया और जबरन पुलिस वैन में बैठा दिया। इसके बाद समझाने-बुझाने पर कार्यकर्ता एडीसीपी काशी जोन नीतू को स्थानीय सांसद को संबोधित ज्ञापन सौंपकर वापस चले गए।

इसे भी पढ़ें: NEET Paper Leak Case: आरोपियों से लगातार पूछताछ, जानकारी हासिल करने में जुटी CBI; अधिकारियों ने दागे ये सवाल