वाराणसी, जागरण संवाददाता। फूलपुर के करखियांव में मतांतरण कराते समय पकड़े गए दम्पती समेत तीन लोगों के पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर हवालात में डाल दिया। विदित हो कि करखियांव गांव में लालजी विश्वकर्मा के घर के लोगो को बरगला व फुसलाकर हिन्दू धर्म से ईसाई धर्म अपनाने की जानकारी होने पर ग्रामीणों ने इसकी सूचना हिन्दू जागरण मंच के प्रदेश मंत्री गौरीश सिंह को दी।

जिसपर मौके पर मंच के कार्यकर्ताओं संग पहुंचे प्रदेश मंत्री ने उन्हें पकड़ कर पुलिस को रात्रि में सौंप दिया।उसके बाद बुधवार को फूलपुर पुलिस ने गौरीश सिंह की तहरीर पर धारा153 ए, 295 ए तथा उप्र विरद्ध धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश के तहत नील तुरै मूल निवासी कन्याकुमारी तमिलनाडु व वर्तमान पता बीरभानपुर राजातालाब तथा दम्पति विजय कुमार व किरण देवी निवासी भाऊपुर हाथी थाना जंसा के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। इससे पूर्व भी वाराणसी में चंगाई के नाम पर धर्म परिवर्तन का काम गुपचुप चल रहा था। जौनपुर जिले के अलावा प्रयागराज से भी धर्म परिवर्तन कराने वाले लोग हर रविवार को आते थे। ऐसे लोगों का शिकार मुसीबत में फंसे और आर्थिक रूप से कमजोर लोग हुआ करते थे। एक बार दोबारा अब धर्मांतरण का मामला बढ़ने लगा है। 

वही थाना प्रभारी सुनील कुमार सिंह ने बताया कि गिरफ्तार हुए आरोपितों को गुरुवार को जेल भेजा जाएगा । वही एसपी ग्रामीण के आदेश पर सीओ ने उक्त मामले की जांच भी शुरू कर दी। दूसरी तरफ सुबह ही थाने पर मुकदमा दर्ज कराने के लिए हिन्दू संगठनों का प्रतिनिधि मंडल थाना प्रभारी से मिलकर आरोपियों पर धर्मांतरण के धारा में प्राथमिकी दर्ज कर कठोर कार्यवाही का मांग की थी। प्रतिनिधि मंडल में हिन्दू जागरण मंच के प्रदेश मंत्री गौरीश सिंह, खंड संघचालक वीरेंद्र मिश्रा, खंड शारीरिक शिक्षण प्रमुख अधिवक्ता चंदन मिश्रा , सह-खंड कार्यवाह मुकुल राय, खंड बौद्धिक प्रमुख सुनील मिश्रा, ओमप्रकाश सेठ, बबलू सिंह समेत अनेक लोग उपस्थित रहे।

Edited By: Abhishek Sharma