मीरजापुर, जेएनएन। बरकछा स्थित बीएचयू दक्षिणी परिसर में शुक्रवार की देर रात हुए छात्रों के दो गुटों के बीच हुए बवाल के विरोध में शनिवार की सुबह शिवालिक हास्टल के छात्रों ने प्रशासनिक भवन के सामने धरना दिया। प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी करते हुए छात्रों ने कहा कि जिन लोगों ने उनकी बाइक को क्षतिग्रस्त की है उनके खिलाफ कार्रवाई करते हुए उसने मुआवजा दिलाया जाए। चेतावनी दी कि जब तक इस मामले में कोई ठोस आश्वासन नहीं मिल जाता, तब तक वे लोग धरना समाप्त नहीं करेंगे। जानकारी होते ही एएसपी व सीओ सदर संजय सिंह बीएचयू साउथ कैंपस पहुंचे और आरोपितों के खिलाफ उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया। अधिकारियों के आश्वासन सात घंटे बाद छात्रों ने धरना समाप्त किया।

बीएचयू के राजीव गांंधी दक्षिणी परिसर बरकछा में पिछले दो दिनों से बचे बवाल के विरोध में शिवालिक हास्टल के छात्रों ने शनिवार को प्रशासनिक भवन के सामने धरना दिया। विश्व विद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए छात्रों ने कहा कि प्रशासनिक अधिकारी विश्वविद्यालय की व्यवस्था को संभाल नहीं पा रहे हैं। उनके द्वारा मानीटङ्क्षरग ठीक से नहीं की जा रही है। इसके चलते कालेज में आए दिन बवाल हो रहा है जिससे उनकी पढ़ाई प्रभावित हो रही है। छात्रों ने कहा कि शिवालिक में रहने वाले शिवालिक और ङ्क्षवध्याचल हास्टल में रहने वाले बीकॉम के छात्रों के बीच रास्ता रोकने को लेकर गुरुवार की रात नोकझोंक हुई थी। बीच-बचाव करने पर मामला शांत हो गया था लेकिन शुक्रवार की शाम ङ्क्षवध्याचल हास्टल के छात्र लाठी-डंडा व राड लेकर शिवालिक हास्टल में घुस आए और छात्रों को मारने-पीटने लगे। इससे वहां अफरा-तफरी मच गई। यहीं नहीं परिसर में खड़ी दस बाइक को भी तोड़ डाला और पत्थरबाजी भी की जिसमें चार छात्र कुलदीप, प्रशांत, प्रसनजीत, व वेदांत घायल हो गए थे। उन्होंने कहा कि आरोपितों पर कार्रवाई नहीं होने से बार-बार घटनाएं हो रही हैं जिससे अन्य छात्रों का भविष्य चौपट हो रहा है। धरना दे रहे छात्रों ने ऐसे छात्रों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की जिससे शिक्षण कार्य शांति से चल सके। नाराज छात्रों को पुलिस ने समझ- बुझाकर मामला शांत कराते हुए धरना खत्म करा दिया।

पुलिस पर निर्दोष छात्रों पर कार्रवाई करने का लगाया आरोप

धरना दे रहे छात्रों ने पुलिस पर भी निर्दोष छात्रों पर कार्रवाई करने का आरोप लगाया। कहा कि जो छात्र पढ़ाई कर रहे थे उनको भी पुलिस सत्यापन के नाम पर कोतवाली ले गई और वहां मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया जबकि वे इस घटना में भी नहीं थे।

सुरक्षा के लहजे से परिसर में फोर्स तैनात

सुरक्षा को देखते हुए बीएचयू बरकछा में पुलिस और पीएचसी तैनात कर दी गई है। ताकि छात्र किसी तरह का उत्पात नहीं मचा सके। पुलिस को निर्देशित किया गया है कि उत्पात मचाने वाले छात्रों पर सख्त कार्रवाई करे। 

इस बारे में राजीव गांधी दक्षिणी परिसर बरकछा के आचार्य प्रभारी रमादेवी निम्मापल्ली ने कहा कि विश्वविद्यालय पर पूरी तरह से कंट्रोल है। ये छात्रों की आपसी लड़ाई है। जहां तक तोड़ी गई बाइक का मुआवजा देने की बात है तो इसमें कालेज प्रशासन क्या कर सकता है क्योंकि इन लोगों ने इसके लिए कोई अनुमति नहीं ली है।

                                              

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस