Move to Jagran APP

Azamgarh Panchayat Chunav Result 2021 : साढ़े आठ बजे तक शुरू नहीं हुई वोटों की गिनती, मतगणना केंद्रों के बाहर उमड़ी भीड़

जिले के 22 ब्लाकों के स्कूल कालेजों में मतगणना केंद्र बनाए गए हैं। मतगणना कराने के लिए आरओ अपने-अपने मतगणना स्थल पर सुबह ही पहुंच गए थे। शारीरिक दूरी का अनुपालन एवं मतदान अभिकर्ताओं को प्रवेश इत्यादि मतगणना शुरू करने के निर्धारित समय पीछे छूट गया।

By Saurabh ChakravartyEdited By: Published: Sun, 02 May 2021 09:27 AM (IST)Updated: Sun, 02 May 2021 09:27 AM (IST)
Azamgarh Panchayat Chunav Result 2021 : साढ़े आठ बजे तक शुरू नहीं हुई वोटों की गिनती, मतगणना केंद्रों के बाहर उमड़ी भीड़
आजमगढ़ के तरवां में मतगणना के दौरान कुछ इस तरह संक्रमण रोकने की कोशिश की गई।

आजमगढ़, जेएनएन। तैयारियां नाकाफी साबित हुईं। आजमगढ़ में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के बाद होने वाली मतगणना सुबह साढ़े आठ बजे तक शुरू नहीं हो पाई थी। सुबह ही एजेंटों की मतगणना केंद्रों के बार भीड़ जमा हो गई थी। मतगणना अभिकर्ताओं की भारी भीड़ के कारण उन्हें प्रवेश देने में ही दिक्कत हो रही थी। प्रशासन के प्रयास के बावजूद कोविड-19 गाइड लाइन का पालन नहीं हो पाया। निर्वाचन अधिकारियों ने सुबह नौ बजे से ही मतगणना शुरू हो पाने की उम्मीद जताई है।

loksabha election banner

आरओ की उपस्थिति में खोले गए स्ट्रांग रूप

जिले के 22 ब्लाकों के स्कूल कालेजों में मतगणना केंद्र बनाए गए हैं। मतगणना कराने के लिए आरओ अपने-अपने मतगणना स्थल पर सुबह ही पहुंच गए थे। लेकिन शारीरिक दूरी का अनुपालन एवं मतदान अभिकर्ताओं को प्रवेश इत्यादि मतगणना शुरू करने के निर्धारित समय सुबह के आठ बजे का समय पीछे छूट गया। साढ़े आठ बजे तक मतगणना का कार्य शुरू नहीं हो सका था। आरओ साढ़े आठ बजे मतगणना के लिए स्ट्रांगरूम खुलवाने में जरूर जुट गए थे।

जानिए कितने पदों के लिए हो रही मतगणना  

जिले की 278 न्याय पंचायतों के 1858 ग्राम प्रधान, 84 जिला पंचायत सदस्य, 2104 बीडीसी सदस्य और 22,820 ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए 19 अप्रैल को 6229 बूथों पर मतदान हुआ था। कुल 37,44,078 में 23,80,859 मतदाताओं ने वोट दिए हैं। दो मई को सुबह आठ बजे से ब्लाक मुख्यालयों से जुड़े 22 स्कूल-कॉलेजों में मतगणना होगी। सबसे पहले ग्राम पंचायत सदस्य पद की मतगणना होनी है। उसके बाद क्रमश: ग्राम प्रधान, बीडीसी सदस्य और फिर अंत में जिला पंचायत सदस्य पद के लिए पड़े मतोें की गिनती की जाएगी। जिला पंचायत सदस्य पद के परिणाम की घाेषणा जिला मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट में की जाएगी। अन्य पदों की ब्लाक मुख्यालयों पर ही आरओ व एआरआे करेंगे। रिपोर्टिंग को 22 स्थानों पर हमारे 22 प्रतिनिधि रहेंगे। जिला मुख्यालय के कंट्रोल रूम से जानकारी लेकर वेब के लिए जरूरी सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी।

इन सीटों पर रोमांचकारी होगी जंग

आजगढ़ को सपा का गढ़ माना जाता है, लेकिन अबकी परिस्थितियां बदलने से कई सीटों पर जीत-हार रोमांचकारी हो सकती है। जिला पंचायत अध्यक्ष पद पिछड़ी जाति के लिए आरक्षित होने से लड़ाई के रोमांच को और बढ़ा रही है। सपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व कैबिनेट मंत्री दुर्गा यादव के पुत्र विजय यादव सेठवल से तो उसुरकुढ़वा से सपा के निवर्तमान जिलाध्यक्ष हवलदार यादव की बहू मीरा यादव जो कि  निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष भी हैं। दोनों ही सीटें सपा के लिए प्रतिष्ठापरक कही जा रही हैं। जबकि भाजपा के संजय निषाद टहर किशुनदेवपुर, पूर्व राज्य मंत्री दर्जा प्राप्ता कृष्ण मुरारी विश्वकर्मा की पत्नी ज्योति विश्वकर्मा रानीपुर रजमाे व शंकर प्रसाद नंदना से चुनाव लड़ रहे हैं। भाजपा के लिए तीनों ही सीटें प्रतिष्ठापरक हैं। जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए इन्हीं में से चुनाव जीतने के बाद कोई किस्मत अाजमाएगा।


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.