वाराणसी, जागरण संवाददाता। मौसम विभाग के अनुमानों के अनुसार पूर्वांचल में बादलों की आवाजाही और बारिश का दौर बना हुआ है। मंगलवार की दोपहर बाद शुरू बारिश ने तापमान में पर्याप्‍त कमी दर्ज कराई है। वहीं रात से दोबारा रिमझिम बरसात का दौर शुरू हुआ तो सुबह दिन चढ़ने तक बारिश का दौर बना रहा। मौसम विभाग के अनुमानों के अनुसार इस पूरे सप्‍ताह बादलों की आवाजाही का रुख बने रहने की उम्‍मीद है। माना जा रहा है कि अब मानसूनी संकेत पूर्वांचल में होने के साथ ही बादलों की सक्रियता का दौर लोगों को राहत दे रहा है। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि आने वाले दिनों में मानसूनी सक्रियता समूचे पूर्वांचल में होना तय है। इसकी वजह से तापमान में कमी तो आएगी लेकिन धूप होने पर उमस में इजाफा होना तय है। 

बीते चौबीस घंटों में अधिकत तापमान 39.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से तीन डिग्री अधिक रहा। न्‍यूनतम तापमान 29.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से दो डिग्री कम रहा। आर्द्रता अधिकतम 94 फीसद और न्‍यूनतम 64 फीसद दर्ज किया गया। मौसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों के अनुसार पूर्वांचल और आसपास बादलों की आवाजाही का रुख बना हुआ हे। जबकि इस पूरे सप्‍ताह बादलों की आवाजाही का रुख बने रहने की उम्‍मीद मौसम विभाग की ओर से जताई गई है। वहीं अगले 48 घंटों तक सामान्‍य से अधिक बारिश का अंदेशा मौसम विभाग ने जताया है।

मानसूनी सक्रियता के संकेतों के बीच पूर्वांचल में झमाझम बरसात के साथ ही गर्म हवाओं का असर खत्‍म होने की ओर है। अब धूप में तल्‍खी भी दिन प्रतिदिन कम होती जा रही है। मौसम का रुख अब सामान्‍य होने की ओर होने के साथ ही मौसम का रुख अब चुनौती नहीं देगा। जबकि बारिश का रुख होने की वजह से तापमान सामान्‍य होने के साथ ही गर्मियों का असर माह भर में खत्‍म होने की ओर होगा। माना जा रहा है कि अब मानसूनी सक्रियता जल्‍द ही पूर्वांचल में होने के बाद मौसम लोगों को राहत देता नजर आएगा। 

Edited By: Abhishek Sharma