मऊ, जेएनएन। नगर के फातिमा अस्पताल में कार्यरत प्रेमिका से अनबन के बाद प्रेमी ने खौफनाक कदम उठा लिया। बलिया जनपद के बैजलपुर रसड़ा निवासी 25 वर्षीय सतीश कुमार ने फातिमा अस्पताल परिसर के पानी की टंकी से कूदकर रविवार की दोपहर लगभग दो बजे जान दे दी। इस दौरान नीचे से प्रेमिका अपने प्रेमी को नीचे उतरने के लिए गुहार लगाती रही। वहीं मौके पर युवक के बुलावे पर मौजूद डायल 112 पुलिस मूकदर्शक बनी थी। 

फातिमा अस्पताल के लैब में कार्यरत एक युवती से रसड़ा के बैजलपुर का युवक प्रेम करता था। रविवार की सुबह वह फातिमा अस्पताल आया और अपनी प्रेमिका से कुछ बातें करने लगा। किसी बात को लेकर दोनों के बीच अनबन हो गई। इसके बाद वहां से युवक सीधे अस्पताल के परिसर स्थित पानी की टंकी पर चढ़ गया। यह देख अस्पताल में भर्ती मरीजों के तीमारदार सहित पूरा अस्पताल महकमा सकते में आ गया। उधर युवक टंकी पर से ही डायल 112 पुलिस को फोन कर सूचना दिया।

पुलिस के पहुंचने के बाद सभी उससे नीचे उतरने की गुहार लगाते रहे पर वह अनसूना करता रहा। उसकी प्रेमिका ने भी उससे उतरने की गुहार की परंतु वह नहीं माना। यह ड्रामा लगभग डेढ़ घंटे तक चलता रहा। इसी दौरान युवक ने पानी से टंकी से छलांग लगा दी। उसके छलांग लगाते ही कोहराम मच गया। लोग दौड़कर वहा पहुंचे और उसे उठाकर अस्पताल ले गए परंतु चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उधर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

चाहती पुलिस तो बच जाती जान

शोले फिल्म के अंदाज में अपनी प्रेमिका को मनाने के लिए पानी के टंकी पर चढ़े युवक ने खुद फोन कर पुलिस को बुलाया था। मौके पर पहुंचे पुलिस डेढ़ घंटे में कोई तरकीब इजात नहीं कर पाई। न ही जाल की ही व्यवस्था की जा सकी। पुलिस केवल पहुंचकर प्रेमिका के सहारे युवक से नीचे उतरने की गुहार लगवाती रही। अगर समय रहते जाल की व्यवस्था कर ली गई होती तो शायद उसकी जान बचाई जा सकती थी।