आजमगढ़, जेएनएन। मुबारकपुर नगर के मोहल्ला पुरा खिजिर में रविवार की रात राम जानकी मंदिर के पुजारी का हाथ पैर बांध कर असलहे के बल पर चार बदमाश अष्टधातु की बनी छः मूर्तियां लूटकर फरार हो गए। घटना से क्षेत्र में दहशत का माहौल है। पुजारी ने सनसनीखेज घटना की थाने में तहरीर दी है।

मुबारकपुर में राम जानकी मंदिर के प्रति लोगों में अटूट आस्था है। मंदिर में अष्टधातु की बनी राधा, कृष्ण, बलराम, राम, जानकी और लक्ष्मण जी की छह मूर्तियां लगभग डेढ़ सौ साल पुरानी थीं। मंदिर में जयंत तिवारी पूजा अर्चन के साथ ही देखभाल भी करते हैं। रविवार  की रात में चार अज्ञात बदमाश मंदिर में पीछे के रास्ते से दीवार फांदकर अंदर दाखिल हुए।

कनपटी पर असलहा सटा कर कर रहे थे आतंकित

बदमाशों ने पुजारी के हाथ पैर बांध दिए और दो बदमाश कनपटी पर असलहा सटा कर आतंकित कर रहे थे,  जबकि दो बदमाश चाभी से मंदिर का कपाट खोलकर मूर्तियां निकालकर उसे कपड़े में लपेट बड़े ही आराम से मंदिर के मुख्य गेट का ताला खोला और फरार हो गए। बदमाशों के फरार होने के बाद पुजारी ने कोशिश कर अपना हाथ पैर खोला और बाहर निकले। लेकिन उससे पूर्व बदमाश ओझल हो गए थे।

मूर्तियाें की कीमत करोड़ों रुपए में

पुजारी ने लोगों को घटना की जानकारी दी और पुलिस को भी सूचित किया। सूचना पर पहुंची पुलिस जांच में जुट गई है। मौके पर सीओ सदर मोहम्मद अकमल खान व थाना प्रभारी निरीक्षक अखिलेश कुमार मिश्र व डाग स्क्वायड टीम भी पहुंची। श्वान घटना स्थल से कूछ दूर जाकर वापस लौट आया। तत्पश्चात मौके पर फिंगर प्रिंट लेने के लिए भी टीम पहुंची। पुजारी जयंत तिवारी ने थाने में तहरीर दी है। बताया जाता है कि मूर्तियाें की कीमत करोड़ों रुपए है। पुलिस अधिकारी अकमल खान ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस