वाराणसी : मोहनसराय में ट्रांसपोर्ट नगर योजना को किसान विरोधी बताते हुए 367 किसानों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खून से मार्मिक पत्र लिख कर जमीन फिर से किसानों के नाम कराने की गुहार लगाई है।

रविवार को बैरवन मोहनसराय में उत्तर प्रदेश किसान खेत मजदूर कांग्रेस के प्रदेश संयोजक की अध्यक्षता में बैरवन गांव के 367 किसानों ने वर्षो से लंबित इस योजना को लेकर पीएम को भेजे गए पत्र में भूमि अधिग्रहण कानून 2013 के आधार पर अधिग्रहण रद कर जमीन फिर से किसानों के नाम दर्ज कराने की मांग की। किसान नेता विनय शकर राय ने कहा कि मोहन सराय ट्रांसपोर्ट नगर योजना से प्रभावित बैरवन, सरायमोहन, कन्नाडाड़ी, मिल्की चक के 1192 किसानों का नाम सरकार ने बिना सहमति के 2003 में ही राजस्व अभिलेखों से काटकर वाराणसी विकास प्राधिकरण का नाम दर्ज कर दिया। जिससे किसान सरकारी योजनाओं के लाभ से वंचित हो गए हैं। मोहन सराय ट्रांसपोर्ट नगर से प्रभावित किसानों को खाद, बीज, कृषि लोन आदि का लाभ नहीं मिल पा रहा। सरकारी अभिलेखों में नाम नहीं होने से किसान विचलित हैं। दर्जनों बार गुहार लगाने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हुई। हर हफ्ते प्रधानमंत्री मन की बात करते हैं, लेकिन अपने संसदीय क्षेत्र के किसानों की सुध लाख गुहार के बाद भी उन्होंने नहीं ली। जिससे आजिज आकर आज किसानों को खून से खत लिख कर प्रधानमंत्री तक अपनी बात पहुंचाने का प्रयास करना पड़ा। किसानों ने एक सुर से कहा कि आज खून से खत लिख रहे हैं, कल अपनी जमीन को वैधानिक तरीके से वापस कराने के लिए जान भी देनी पड़ी तो पीछे नहीं हटेंगे।

- नौ को संसदीय कार्यालय में भी देंगे पत्र

इस योजना से प्रभावित चारों गावों के किसानों से आठ अप्रैल तक अभियान के तहत खून से खत लिखवा कर नौ को प्रधानमंत्री के संसदीय कार्यालय में भी देने की तैयारी है। इस अभियान की अध्यक्षता किसान संघर्ष समिति के संयोजक ने की।

-इन्होंने लिखी प्रधानमंत्री को चिट्ठी

पीएम को खून से पत्र लिखने वालों में संचालक मेवा पटेल, कृष्णा प्रसाद पटेल, गायत्री देवी, प्रेम साह, विजय वर्मा, सुरेंद्र, अंशु मिश्रा, राहुल सिंह, शिवकुमारी, गया पटेल, चंदा देवी, हीरावती, छन्नू पटेल, अभिमन्यु, मूलचंद, मन्नू मिस्त्री, बिहारी लाल, आरती पटेल, शिवकुमारी, सदानंद पटेल, रघुनाथ, सुमित्रा, पार्वती देवी, बाबू लाल, जगमानी देवी, सियाराम, वंदना पटेल, सावित्री देवी, उमाशकर, रामजी, जयप्रकाश, बेला देवी, लालती देवी, श्याम नारायण, उर्मिला, जगरानी, गिरजा शकर, वंश नारायण व मनसा देवी इत्यादि हैं।।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप