वाराणसी : काशी ¨हदू विश्वविद्यालय के विभिन्न पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए मंगलवार को करीब 30 हजार अभ्यर्थियों ने प्रवेश परीक्षा दी। परीक्षा समाप्त होने के बाद लंका व नरिया क्षेत्र में जाम लग गया। बीएचयू कैंपस से लंका होते बाहर निकलने के लिए लोगों काफी मशक्कत करनी पड़ी। बीएससी बॉयो के साथ ही पीजी के भी कुछ कोर्स में दाखिले की प्रवेश परीक्षा हुई। परीक्षा नियंता एमके पांडेय ने बताया कि सबसे बड़ी परीक्षा 24 मई को होगी। इस दिन बीएससी कृषि में प्रवेश के लिए देश के 16 शहरों में परीक्षा होनी है। करीब 44 हजार अभ्यर्थी सिर्फ वाराणसी में प्रवेश परीक्षा देंगे। वहीं पटना, दिल्ली, बेंगलुरू, लखनऊ, गोरखपुर, भोपाल, जयपुर आदि शहरों में 74 हजार छात्र-छात्राएं शामिल होंगे। पीआरओ डा. राजेश सिंह ने बताया कि 24 मई को होने वाली अभ्यर्थियों की भीड़ के मद्देनजर जिला व पुलिस प्रशासन से मदद मांगी गई है, ताकि यातायात एवं सुरक्षा व्यवस्था बेहतर हो सके। इनसेट--

कोलकाता सेंटर पर उठते रहे हैं सवाल

बीएचयू में दाखिले के लिए कोलकाता में भी परीक्षा केंद्र बनाए जाते हैं। हालांकि, वहां के केंद्रों पर कई बार अनियमिता के आरोप लगते रहे हैं। सूत्र बताते हैं कि पिछले तीन वर्ष में वहां के एक ही केंद्र से मेरिट पाने पर भी सवाल उठे थे। एक बार तो टॉप 10 रैंक में वहीं के अभ्यर्थी आ एक थे। सूत्र यह भी बताते हैं कि इसकी जांच तो हुई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। इस बार बीएससी एजी के लिए कोलकाता में पांच केंद्र बनाए गए है। ऐसे में कुलपति के सामने किसी भी प्रकार की अनियमितता को रोकने की चुनौती होगी।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप