गाजीपुर, जागरण संवाददाता : झारखंड में चालक की हत्या कर ट्रक लूटकांड को अंजाम देने वाला 25 हजार का इनामी व आजमगढ़ के रतुआपार अतरौली निवासी दिलीप यादव को गुरुवार की देर रात शहर कोतवाली के सुखदेवपुर चौराहे के पास पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार हो गया। दिलीप को पैर में गोली लगी है। वहीं उसका एक साथी अंधेरे का फायदा उठाते हुए फरार हो गया। 

 शहर कोतवाल टीबी सिंह अंधऊ मोड़ पर वाहन चेकिंग कर रहे थे। इसी दौरान तेज रफ्तार बाईक सवार दो बदमाश आये और बैरिकेटिंग से बचते हुए व गाली देते हुए भागने लगे। कोतवाल अपने वाहन से उक्त संदिग्ध व्यक्तियों का पीछा करते हुए कंट्रोल रूम को अवगत कराया। कंट्रोल रूम की सूचना पर जमानियां मोड़ तिराहे पर चेंकिग कर रह रजदेपर चौकी इंचार्ज द्वारा रोकने की कोशिश की गइ तो उन पर जान से मारने की नियत से फायर करते हुए भाग निकले।

रजागंज चौकी क्षेत्र में चेकिंग कर रहे एसओजी प्रभारी रामाश्रय राय को कंट्रोल से सूचना प्राप्त होने टीम ने सुखदेव चौराहे के पास रेलेव ब्रिज के ऊपर उक्त संदिग्ध मोटरसाईकिल सवार बदमाशों की घेराबंदी कर दी। यहां से भी बच कर भागने का प्रयास करते हुए उक्त संदिग्ध मोटरसाईकिल सवार बदमाशों ने पुलिस टीम पर फिर से फायर किया।

पुलिस के जवाबी फायरिंग में मोटरसाईकिल सवार एक बदमाश दिलीप यादव के पैर में गोली लग गई और वह घायल होकर गिर पड़ा। मोटरसाईकिल सवार दूसरा बदमाश फरार हो गया। घायल बदमाश के पास से एक तमंचा, चार खोखा कारतूस, एक स्प्लेंडर बाइक बरामद किया गया। घायल अभियुक्त को प्राथमिक उपचार हेतु सदर अस्पताल मे एडमिट कराया गया है। पूछताछ से ज्ञात हुआ की उक्त व्यक्ति, झारखण्ड के सरायकेला से लोड होकर पश्चिम बंगाल के लिए निकली हुई ट्रक की लूट की घटना व मूल चालक की हत्या की घटना में इनाम घोषित वांछित अभियुक्त है। 

Edited By: Saurabh Chakravarty