वाराणसी, जेएनएन। पिछले साल ईद को लेकर बाजार जहां बूम पर था वहीं इस बार कोरोना के चलते यह लॉक है। ग्राहकों से खरीदारी के रूप में ईदी नहीं मिलने से कारोबारी निराश हैं। पिछले वर्ष की तुलना में 50 प्रतिशत कारोबार भी नहीं हो पाया है। बाजार में खरीदारों की संख्या आधी है। हालांकि कोरोना वायरस से बचने व इम्युनिटी बढ़ाने के लिए इस समय घर-घर काढ़ा का प्रयोग बढ़ा है। इस कारण काढ़े में प्रयुक्त वस्तुओं (मिर्च, दालचीनी, तेजपत्ता, हल्दी, गिलोय की लकड़ी, मुनक्का) की मांग में इजाफा लेकिन लॉकडाउन- 4 में मिली छूट से इसके दामों में कमी हुई है।

गोला दीनानाथ मंडी के थोक कारोबारी नवनीत कुमार ने बताया कि लॉकडाउन के पहले चरण में यातायात  बंद कर दिया गया था, लेकिन अब ढील मिली है। इससे अन्य प्रदेशों से माल की आवक पर्याप्त होनेे से लगभग सभी मसालों का रेट 15-20 प्रतिशत तक कम हुआ है। वहीं, कुछ मसालों की नई फसल आने से भी दाम में नरमी आई है। व्यापारियों ने बताया कि कोरोना ने इस बार ईद का बाजार भी बेजार कर दिया है। कमोबेश यही हाल मेेवे का भी है। गोलानाथ दीनानाथ व्यापार मंडल के उपाध्यक्ष विनोद भूतड़ा ने बताया कि लॉकडाउन में दुकानें बंद होने से कुछ सूखे मेवे खराब हो गए।

मसालों का रेट प्रति किग्रा

              थोक          फुटकर

जीरा          120-140      160-180

काली मिर्च   320-450  350-500

बड़ी इलायची 500-800 550-850

दालचीनी      250-300  270-320

तेजपत्ता      40-50    60-80

हल्दी           70-90    80-100

लाल मिर्च     90-100  110-120

सफेद मिर्च     500-700 550-750

रतनजोत    150-200  175-225

जावित्री (कोच्चिन) 1200-1400 1280- 1500 

जावित्री (सिंगापुर) 1800-2000  1900-2100

छोटी इलायची  2200-3000  2250-3100

पोस्ता            600-800  640-820

जायफल         400-500  410-510

कवाब चीनी    1200-1300  1250-1350

स्याहजीरा       400-500   450-550

धनिया           80-90     90-110

सूखा मेवा   

काजू   700-800     750-850

पिस्ता  1200-1300  1250-1350

बादाम  580-600     600-620

किशमिश 140-150    150-160

पहले की अपेक्षा मंदी

मंडी में माल की आवक भरपूर है। मांग के अनुपात में माल उपलब्ध है। फिर भी लॉकडाउन में छूट के बाद व्यापारी पहले की अपेक्षा मंदी महसूस कर रहे हैैं।

- विनोद कुमार भूतड़ा, उपाध्यक्ष, गोला दीनानाथ मंड़ी।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस