जागरण संवाददाता, उन्नाव : लखनऊ-कानपुर हाईवे ऑटो चालक की लापरवाही एक युवक और महिला के गर्भस्थ शिशु की जान की दुश्मन बन गई। दही चौकी की ओर अचानक ऑटो घुमा देने से कार पीछे से टकरा गई। ऑटो पलटने से जहां उस पर बैठे एक युवक की मौत हो गई, वहीं तेज झटका लगने से कार सवार महिला के गर्भस्थ शिशु की लखनऊ के एक अस्पताल में मौत हो गई। हादसे में सगे भाइयों समेत पांच लोग घायल भी हुए। दो को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

आवास विकास बाईपास से ऑटो चालक ने करीब छह सवारियां भरीं और दही चौकी की ओर निकला। दही चौकी तिराहा पहुंचने पर अचानक उसने पुरवा की ओर वाहन मोड़ दिया, जिससे पीछे आ रही कार का चालक नियंत्रण नहीं रख सका और ऑटो में जोरदार टक्कर मार दी। तेज टक्कर से ऑटो पलट गया। हादसे में ऑटो सवार अशर्फीलाल (35) पुत्र गुरुप्रसाद निवासी चौधरीखेड़ा आसीवन की मौके पर मौत हो गई, जबकि कार सवार साक्षी को तेज झटका लगने से रक्तश्राव शुरू हो गया। लखनऊ के पीजीआइ में उसके गर्भस्थ शिशु की भी मौत हो गई। हादसे में भादिन पुरवा निवासी राजकिशोर (35) और उसके भाई समेत पांच लोग घायल हो गए। घायल राजकिशोर भाई के साथ दिल्ली से लौटा था और रेलवे स्टेशन पर उतरकर ऑटो से घर जा रहा था। दोनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। अन्य ने निजी अस्पताल में इलाज कराया। कार चालक शुभम ¨सह तोमर निवासी गांव ब्राथमी थाना एट जिला जालौन ने बताया कि वह अपनी बीमार भाभी साक्षी ¨सह को लेकर पीजीआइ लखनऊ जा रहा था। पुलिस ने वाहन खड़ा करा शुभम के पिता रुद्रप्रताप ¨सह को चौकी में बिठा लिया।

Posted By: Jagran