मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, उन्नाव : वित्तविहीन शिक्षकों के साथ दोहरा व्यवस्था खत्म करने और मानदेय की मांग पूरी न होने पर उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ के पदाधिकारियों ने शिक्षकों के साथ शुक्रवार को शिक्षा भवन घेरा। परिसर में धरना प्रदर्शन करते हुए उन्होंने लंबित मांगों को दोहराया। शिक्षक विधायक ने इस मौके पर कहा कि शिक्षकों का अपमान किसी भी कीमत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। 29 अगस्त को विधानसभा का घेराव होगा। इसे बड़ी संख्या में शिक्षक पहुंचेंगे। इस चेतावनी के साथ उन्होंने मुख्यमंत्री को संबोधित सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन दिया।

शिक्षक विधायक राजबहादुर सिंह चंदेल ने कहा कि शिक्षकों की मांग पर सरकार गंभीर नहीं है। लंबित मांगों पर हमेशा आश्वासन मिला है। शिक्षकों से किया वायदा सरकार को निभाना होगा। शिक्षा भवन परिसर में धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि शिक्षकों का अपमान किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जिलाध्यक्ष देव स्वरूप त्रिवेदी ने बताया कि वित्तविहीन शिक्षकों की मांगों पर सरकार ने हमेशा आश्वासन दिया है। शिक्षकों को लेकर संघ के लड़ाई जारी रहेगी। सरकार को शिक्षकों के हित में फैसला लेना होगा। इस दौरान सहायता प्राप्त और वित्त विहीन विद्यालय के शिक्षक मौजूद रहे। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के नाम सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन दिया गया है। यदि मांगों पर अभी भी बात न बनी तो शिक्षक सड़क पर आकर प्रदर्शन करेंगे। विनोद कृष्ण शर्मा, आचार्य सूर्यकांत तिवारी, वीरेंद्र विक्रम सिंह, शिवम सिंह, रमेश कुमार गौतम समेत आधा सैकड़ा शिक्षक धरने पर बैठे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप