जागरण संवाददाता, उन्नाव : एसडीएम के नेतृत्व में खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की टीम ने सोमवार को हसनगंज तहसील क्षेत्र में संचालित छेना व पनीर आदि बनाने वाले कारखाना पर छापा मारा। करीब 40 किलो स्टार्च पाउडर सीज किया। जबकि छेना, खोवा, स्टार्च और क्रीम का सैंपल लेकर परीक्षण के लिए प्रयोगशाला भेजा है।

अभी तक खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन छापामारी के नाम पर खाना पूर्ति करता आ रहा था। जागरण ने मिलावट और सिथेटिक खोवा व छेना आदि के कारोबार का खुलासा किया, जिस पर डीएम ने कड़ा रुख अपनाया। डीएम देवेंद्र कुमार पांडेय ने अभिहित अधिकारी खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन मंजूसा सिंह को दूध से निर्मित होने वाली मिलावटी सामग्री पर शिकंजा कसने का निर्देश दिया। जिसके बाद हरकत में आए विभाग के खाद्य सुरक्षाधिकारियों की टीम ने एसडीएम हसनगंज के नेतृत्व में मिलावटी खाद्य, पेय पदार्थों की विक्रय पर प्रभावी रोकथाम के लिए चेकिग अभियान चलाया। एसडीएम हसनगंज के नेतृत्व में मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी, खाद्य सुरक्षा अधिकारी की टीम ने रामपुर गढौवा में छेना एवं खोवा बनाने वाले कारखाना पर छापा मारा। टीम द्वारा एक खोवा, एक मेज स्टार्च, एक क्रीम तथा एक छेना मिठाई के नमूने संग्रहित किए गए एवं लगभग 40 किग्रा स्टार्च पाउडर सीज किया गया। टीम ने बगहरी में चेकिग के दौरान रस्क का नमूना लेकर जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस