जागरण संवाददाता, उन्नाव : इमरजेंसी सेवा में लगे स्वास्थ्य कर्मियों खासकर स्टाफ नर्स, वार्ड ब्वाय और सफाई कर्मचारियों को कोविड से बचाव के उपायों को अपना कर सेवा देनी होगी। सेल्फ प्रोटेक्शन की नई गाइड लाइन भी जारी कर दी गई। गुरुवार को स्वास्थ्य कर्मियों को गाइड लाइन की जानकारी देते हुए सेल्फ प्रोटेक्शन कैसे करना है इसकी जानकारी देकर उसका पालन करने का निर्देश दिया गया।

जिला अस्पताल सभागार में प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया। सीमएस डॉ. बीबी भट्ट ने उन्हें बताया कि कोविड गाइड लाइन में बदलाव कर दिया गया है स्वास्थ्य कर्मियों को गाइड लाइन के अनुसार स्वास्थ्य सेवाएं देनी होंगी। उन्होंने गाइड लाइन की विस्तृत जानकारी के साथ ही कर्मचारियों को बताया कि इमरजेंसी में कोई भी मरीज आने के बाद कर्मचारी बिना मास्क और ग्लब्स पहने मरीज के पास न जाएं। एक मीटर की दूरी से उसकी हिस्ट्री ले संदिग्ध लक्षण हो तो उसे आइसोलेशन यूनिट भेजे। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि किसी मरीज के पास 10 मिनट से अधिक न रुकें। वीगो और कैथेटर डालते समय गाउन जरूर पहनें। मरीज संदिग्ध होने पर उसे उतार कर अलग कर दें और हाथों को सैनिटाइज करने के बाद दूसरे मरीजों को छुएं। प्रशिक्षण में सभी स्टाफ नर्स, वार्ड ब्वाय, सफाई कर्मी और डॉ. पवन, डॉ. धीर सिंह, डॉ. फैजल जुबेर, डॉ. अहमद, डॉ. संजय वर्मा आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस