संवाद सहयोगी, हसनगंज : गांव में प्रवासियों सहित मनरेगा मजदूरों को काम दिए जाने की हकीकत परखने आए प्रमुख सचिव को एपीओ उचित जवाब नहीं दे पाए। इस पर उच्चाधिकारी को मनरेगा में काम की वास्तविक हकीकत समझने में देर न लगी। प्रमुख सचिव ने यहां ग्रामीणों से भी बात की। जहां झोपड़ पट्टी में रहने वाली एक महिला की आवास के मामलों को लेकर की गई शिकायत प्रमुख सचिव के बिफरने का कारण बनी। प्रमुख सचिव के सामने औरास और सफीपुर में बीडीओ की कार्यशैली को लेकर कर्मियों में नाराजगी भी सामने आई। पाई गई खामियों को दुरुस्त करने की हिदायत देकर दोबारा ऐसी स्थिति मिलने पर सख्त कार्रवाई का डर प्रमुख सचिव ने मातहतों को दिखाया। औरास बीडीओ पर सीडीओ से सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया।

कोरोना महामारी के बीच मजदूरों की वास्तविक स्थिति का निरीक्षण करने ग्राम्य विकास एवं पंचायती राज प्रमुख सचिव मनोज कुमार सिंह ने जखैला गांव में निरीक्षण किया। उन्होंने मनरेगा एमआईएस फीडिग में दो घंटे तक एपीओ से जानकारी कर गांव में चले रहे मनरेगा सहित मजदूरों की बढ़ती समस्या को देखते हुए सौ दिनों का काम देने पर जोर दिया। साथ ही आवास न मिलने और विधवा पेंशन की शिकायत लेकर आई वृद्धा के घर पहुंच कर प्रमुख सचिव ने निरीक्षण किया। मजदूरों को हर हाल में 100 दिन का रोजगार दिए जाने के निर्देश दिए। ब्लॉक में ग्राम्य विकास एवं पंचायती राज प्रमुख सचिव मनोज कुमार सिंह ने मनरेगा कम्प्यूटर कक्ष पहुंच कर एपीओ आशीष कुमार से मनरेगा योजना में काम कर रहे मजदूरों की डिमांड के विषय में जानकारी ली जिसमें 8419 मजदूरों ने काम करने की डिमांड मिली। जिसमें कितने मजदूरों को काम मिला इसकी जानकारी एपीओ सही से नहीं दे पाए। जिस पर पास खड़े बीडीओ केएन पांडेय ने जानकारी दी। जिस पर प्रमुख सचिव ने मनरेगा एपीओ को कड़ी फटकार लगाते हुए दो घंटे तक कम्प्यूटर कक्ष में जांच पड़ताल की। इस अवसर पर सीडीओ डॉ राजेश कुमार प्रजापति, डीडीओ आरयू द्विवेदी, एसडीएम प्रदीप वर्मा, बीडीओ केएन पांडेय, इंस्पेक्टर अरुण प्रताप सिंह आदि मौजूद रहे।

--------------

जाजूमऊ में आवास की शिकायत पर भड़के

आदमपुर भासी का मजरा जाजूमऊ गांव की पीड़िता गायत्री पत्नी गया प्रसाद ने शिकायती पत्र में बताया कि पात्र होने के बावजूद भी प्रधान संतोष सिंह आवास में नाम तक नहीं डाला। जिस पर प्रमुख सचिव ने पीड़िता गायत्री के घर पहुंच कर निरीक्षण किया। पात्र होने पर खंड विकास अधिकारी केएन पांडेय को आवास और विधवा पेंशन दिलवाने को निर्देशित किया।

---------------

83 मजदूरों से बात कर जानी हकीकत

जखैला गांव में चल रहे मनरेगा के तहत तालाब में काम कर रहे 83 मजदूरों के पास पहुंच कर जानकारी ली। जिसमे उन्होंने सैनिटाइजर, पानी पिलाने की व्यवस्था आदि देखी। प्रधान को निर्देश दिया कि गांव जो मजदूर काम मांगता है उसे काम दिया जाए।

----------------

12 किमी तक नहीं दिखा काम

ब्लॉक से 12 किमी दूर जखैला गांव तक जाते समय रास्ते मे कहीं भी मनरेगा से काम होता दिखाई नहीं दिया। जिस पर प्रमुख सचिव ने सवाल खड़े किए।

--------------

जांच कराकर बीडीओ पर करें कार्रवाई

सफीपुर के बाद औरास में बीडीओ की मिली शिकायत पर प्रमुख सचिव गंभीर दिखे। औरास बीडीओ पर कार्रवाई के संकेत प्रमुख सचिव ने दिए। सीडीओ से कहा कि बीडीओ से बीडीओ क्यों नाराज हैं। इसकी जांच कर सख्त कार्रवाई करके मुझे बताएं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस