जागरण संवाददाता, उन्नाव: शनिवार को कानपुर-लखनऊ रेल रूट पर मगरवारा स्टेशन के पास डाउन लाइन में वेल्डिंग कराई गई। दोपहर 2:15 से शाम चार बजे तक कानपुर से उन्नाव के रास्ते लखनऊ, बालामऊ व रायबरेली जाने वाली ट्रेनों का परिचालन बाधित रहा। इस कार्य का असर यात्री ट्रेनों पर कम नजर आया। सबसे ज्यादा गुड्स ट्रेन प्रभावित रहीं।

कानपुर-लखनऊ रेल रूट पर गंगापुल बायां किनारा स्टेशन से मगरवारा व करोवन रेलवे क्रॉसिग तक सेमी हाई स्पीड ट्रैक व स्लीपर बिछाए गए थे। 22 फरवरी को पटरी बिछाने से पहले पीक्यूआरएस का इंजन बेपटरी हो गया था। जिस वजह से ट्रैक पर होने वाले कार्य कुछ दिन के लिए रोक दिए गए थे। रेलपथ के वरिष्ठ अधिकारियों के अनुसार कानपुर-लखनऊ रेल रूट पर ट्रेनों की गति बढ़ाने के लिए हाई स्पीड स्लीपर व ट्रैक बिछाए जा रहे। शुक्रवार को ब्लाक न मिलने से मगरवारा यार्ड लाइन पर कार्य टल गया था। यार्ड में बदल चुकी पटरियों पर ज्वाइंट करते हुए वेल्डिंग कार्य होना था, जो शनिवार को ब्लाक मिलने पर किया गया। शाम करीब सवा चार बजे तक रेल रूट सामान्य हो सका था।

उन्नाव-बालामऊ रेल रूट पर ओएचई में 25000 वोल्ट ऊर्जा का प्रवाह शुरू: उन्नाव-बालामऊ रेल रूट पर ओएचई चालू कर दी गई है। सीनियर सेक्शन इंजीनियर आरपी सिंह के अनुसार अभी 75 किमी प्रति घंटे की गति से ट्रेन चलती हैं। डीजल लाइन होने की वजह से यह दुश्वारी थी। इस कोढ़ को खत्म कर ओएचई में 25000 वोल्ट विद्युत प्रवाह किया गया है। ट्रैक से होकर निकलने वाले लोगों को लेकर सख्ती बरतने के निर्देश हैं। कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी के निरीक्षण में मुरादाबाद मंडल के डीआरएम तरुण प्रकाश सहित पूरी टीम मौजूद रहेगी। छह मार्च से 110 किमी प्रति घंटा की गति से ट्रेनों का इस रूट पर दौड़ना शुरू हो जाएगा। लंबे इंतजार के बाद उन्नाव-बालामऊ रेल रूट पर ओएचई का कार्य पूरा करते हुए रेलवे विद्युत विभाग के अभियंताओं ने 25000 वोल्ट ऊर्जा का प्रवाह शनिवार से शुरू कर दिया है। ओएचई में करंट दौड़ने के साथ ही ट्रैक के आसपास से निकलने वाले लोगों के खिलाफ सख्ती बरतने के निर्देश मुरादाबाद मंडल के सुरक्षा व संरक्षा अधिकारियों ने सेक्शन इंजीनियर को दिए हैं। पांच मार्च को कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी एसके पाठक 100 किमी के इस रूट का निरीक्षण करेंगे। उनके साथ मंडल की पूरी टीम रहेगी। लंबे इंतजार के बाद उन्नाव-बालामऊ रेल रूट पर ओएचई का कार्य पूरा करते हुए रेलवे विद्युत विभाग के अभियंताओं ने 25000 वोल्ट ऊर्जा का प्रवाह शनिवार से शुरू कर दिया है। ओएचई में करंट दौड़ने के साथ ही ट्रैक के आसपास से निकलने वाले लोगों के खिलाफ सख्ती बरतने के निर्देश मुरादाबाद मंडल के सुरक्षा व संरक्षा अधिकारियों ने सेक्शन इंजीनियर को दिए हैं। पांच मार्च को कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी एसके पाठक 100 किमी के इस रूट का निरीक्षण करेंगे। उनके साथ मंडल की पूरी टीम रहेगी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021