जागरण संवाददाता, उन्नाव : अयोध्या में राम मंदिर को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद इस पर अब फैसला देने की तारीख लगभग तय हो गई है। अयोध्या में सरगर्मी बढ़ने के चलते ही जिला पुलिस ने भी सक्रियता बढ़ा दी है। पुलिस शहर सहित गांवों के संवेदनशील क्षेत्रों में भी सक्रिय हो गई है। फैसले की तारीख और दीपावली को देखते हुए चप्पे-चप्पे पर निगरानी तेज कर दी गई है। फैसले के ठीक पहले शासन द्वारा पुलिस विभाग का नोडल अफसर तैनात किए जाने के पीछे भी कहीं न कहीं अयोध्या मामले को लेकर सरगर्मी प्रमुख कारण है।

बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले को लेकर दोनों पक्षों की सुनवाई पूरी हो गई, अब फैसले की घड़ी जल्द आनी है। ऐसे में शासन द्वारा सभी जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। उन्नाव में भी पुलिस अधिकारियों को सचेत रहने के निर्देश के साथ ही फोर्स की सरगर्मी तेज कर दी गई है। अधिकारियों ने भी शासन का आदेश मिलते ही पुलिसिया गश्त बढ़ाने और चप्पे-चप्पे की निगरानी रखने को संबंधित थाना, कोतवाली और चौकी प्रभारियों को कह दिया है। अधिकारियों के आदेश पर सभी थाना प्रभारियों ने रोजाना की गश्त और तेज कर दी है। वाहन चेकिग से लेकर संदिग्ध स्थान व व्यक्ति पर पैनी निगाह भी रखी जा रही है। विभागीय सूत्र बताते हैं कि पुलिस विभाग के लिये नोडल अधिकारी का चयन किये जाने के पीछे जिले में अपराध में बढ़ोत्तरी होने के साथ ही यह मामला भी प्रमुख है।

-----------------

पहले ही लागू हो चुकी है धारा 144

- जिलाधिकारी देवेंद्र कुमार पांडेय द्वारा जिले में पहले ही धारा 144 लागू की जा चुकी है। साथ ही डीएम एसपी एमपी वर्मा के साथ बैठक कर मामले को लेकर चर्चा कर चुके हैं। अंदरखाने देखा जाए तो यह सभी तैयारियां फैसले के दौरान किसी भी प्रकार की अव्यवस्थाओं से निपटने को लेकर की जा रही है।

---------------------

यातायात विभाग की बैरीकेडिग गईं अयोध्या

- जिले भर के चौराहों पर यातायात विभाग द्वारा लगाई जाने वाली बैरीकेडिग में से 25 को पहली खेप में अयोध्या भेजा गया है। जिन्हें यातायात प्रभारी इंद्रपाल सिंह सेंगर ने बुधवार को ट्रक में लदवाकर अयोध्या भिजवाया। उन्होंने बताया कि अभी और भी बैरीकेडिग की मांग हो सकती है।

---------------------

- राम मंदिर फैसले की तिथि नजदीक आने के चलते फोर्स की डिमांड आई है। अभी कितनी फोर्स भेजी जानी है इसकी जानकारी नहीं हो सकी है। इस गंभीर मुद्दे को लेकर सतर्कता बरतने के भी निर्देश हुए हैं।

- विनोद कुमार पांडेय, एएसपी

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस