जागरण संवाददाता, उन्नाव : मंगलवार को जिला अस्पताल में भीषण गर्मी में संक्रामक रोगों की चपेट में आए मरीजों की भरमार रही। संक्रामक रोगों से पीड़ित लगभग 400 मरीज इलाज को पहुंचे, जिसमें 35 डायरिया पीड़ितों को अस्पताल में भर्ती किया गया। वहीं गर्मी और उमस से ओपीडी से लेकर वार्ड तक मरीजों की हालत बेहद खराब रही। मरीजों की देखभाल में लगे तीमारदारों को भी परेशानी सहनी पड़ी। वार्ड में मरीजों के लिए रखे गए कूलर बिना पानी के चिपचिपी पैदा करते रहे। कूलर से निकलने वाली हवा मरीज और तीमारदारों के पसीने की एक बूंद भी नहीं सुखा सकीं। ऐसे में कई तीमारदार हाथ के पंखे से ही बेचैनी मिटाने का प्रयास करते रहे।

------------

बदले गए चादर व की गई सफाई

- 15 अगस्त के मद्देनजर अस्पताल प्रशासन साफ सफाई पर गंभीर दिखा। वार्ड से लेकर बाहर तक झाड़ू, पोंछा और धुलाई का कार्य चलता रहा। इस दौरान मरीजों के बेड शीट भी बदले गए। जिसके कारण मरीजों को अपना बिस्तर कुछ देर के लिए छोड़ना पड़ा। मरीजों के साथ तीमारदारों को भी वार्ड सफाई के दौरान मुशिकलें उठानी पड़ीं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप