जागरण संवाददाता, उन्नाव: सुबह 10 बजे एचपी गैस प्लांट में गैस रिसाव होने से आग लगने के बाद करीब एक बजे तक लगातार तीन घंटे शहरियों, ग्रामीणों के साथ उद्यमियों की जान सांसत में बनी रही। इस दौरान उद्यमियों ने फैक्ट्रियां बंद करवा दीं और ग्रामीणों ने घरों से निकलकर खेतों में डेरा जमा लिया। वहीं दहशत से भरे शहरियों ने अपनी दुकानें तक खुली छोड़ दीं और सुरक्षित स्थान को भागे।

गैस प्लांट में आग लगने की खबर मिलने पर आसपास के करीब पांच किमी एरिया में जिला प्रशासन ने अलर्ट घोषित कर दिया। इस परिधि में आने वाले गावों को खाली कराया जाने लगा। दहशत इतनी रही कि लोग अपने घरों को छोड़ खेतों की ओर रुख कर गए। जो जैसे था वह उसी हालत में भाग खड़ा हुआ। ग्रामीणों ने खेतों में ही करीब तीन घंटे बिताए और आग के न बढ़ने की दुआएं करते रहे। आग शांत होने की जानकारी मिलने पर सभी अपने घरों को वापस लौटे और उनकी जान में जान आई।

प्लांट में आग की भयावहता देखते हुए जिला प्रशासन ने आसपास की सभी छोटी-बड़ी फैक्ट्रियों को बंद कराने के साथ ही कर्मचारियों की छुट्टी करने का आदेश किया। वहीं क्षेत्र में स्थित केंद्रीय विद्यालय व पॉलीटेक्निक सहित अन्य शिक्षण संस्थानों में भी छुट्टी कर दी गई। प्रशासन से यह फरमान मिलते ही सभी फैक्ट्रियों व स्कूलों में छुट्टी कर दी गई।

------------------------

अधिकारियों के घनघनाते रहे फोन

आग लगने की सूचना पर पहुंचे जिला प्रशासन व पुलिस विभाग के आलाधिकारियों के फोन लगातार तीन घंटे तक घनघनाते रहे। विभागीय उच्चाधिकारी और शासन से इसकी पल-पल की जानकारी ली जाती रही। इसके चलते अधिकारी तीन घंटे तक सिर्फ यस सर-यस सर करते हुए यथास्थिति से अवगत कराते रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप