जागरण संवाददाता, उन्नाव : मतगणना की तैयारियों में प्रशासन की तरह ही लगे उम्मीदवार अपने एजेंटों की सुविधा और चूक से बचने के सारे इंतजाम कर चुके हैं। इस बार प्रमुख दलों के उम्मीदवारों ने गणना के लिए जो पेपर सीट तैयार की है, वह राउंड वार पोलिग बूथ संख्या पर आधारित है। जिसमें अपने अलावा विपक्षियों के नाम और पड़े मतों का खाका पहले से ही तैयार करा लिया गया है। जिसमें एजेंटों को अब केवल चक्रवार गणना को भरना भर है, यह तैयारी भी प्रत्याशी वोट के हिसाब किताब के लिए नहीं बल्कि किसी भी गड़बड़ी से बचने के लिए पूर्व की तैयारियों के रूप में कर रहे हैं।

-------------------

तय समय से पहले गेट पर पहुंचेंगे एजेंट

- भाजपा, सपा, कांग्रेस तीनों ही राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों ने काउंटिग एजेंट उन्हीं को बनाया जो उनके अति करीबी और विश्वासपात्र हैं। प्रत्याशियों ने एजेंट को बुधवार को ही चुनाव कार्यालय बुला लिया है। वह मतगणना के तय समय से एक घंटे पहले ही गणना स्थल पर पहुंच जाएंगे। ताकि उन्हें प्रवेश आदि के लिए परेशान न होना पड़े।

-------------------

गणना सीट पर प्रिट है बूथ संख्या, पड़े मत व प्रत्याशी का नाम

- प्रत्याशियों ने काउंटिग एजेंट को गणना परिणाम नोट करने में अधिक मेहनत न करनी पड़े इससे बचाने का भी बंदोबस्त किया है। बूथ संख्यावार एजेंट बनाए गए हैं उनको उन्हीं बूथों की गणना सीट दी गई है। सीट पर सभी प्रत्याशियों के नाम, बूथ संख्या, और पड़े मत दर्ज प्रिट हैं। ताकि चक्र पूरा होते ही एजेंट को केवल परिणाम में प्रत्याशियों को मिले मत ही भरने पड़े। प्रत्याशियों ने निर्वाचन कार्यालय से बूथ वार पड़े मतों का आंकड़ा मतदान समाप्त होने के बाद जुटा लिया था। गणना अभिकर्ता को सिर्फ चक्रवार मिले मत ही भरने पड़ेंगे इस तरह उन्हें ज्यादा लिखा पढ़ी नहीं करनी पड़ेगी। ले लिया है।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran