जागरण संवाददाता, उन्नाव : शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न करा चुकी पुलिस ने एक और चुनौती का सामना कर शत-प्रतिशत परिणाम दे दिया। गुरुवार को बिना किसी छुटपुट नोकझोंक के मतगणना संपन्न हुई। पुलिस ने जो सुरक्षा की दृष्टि से जो रूपरेखा बनाई, उसको देख परिदा भी पर नहीं मार सका। मतगणना केंद्र को जाने वाले मुख्य गेट पर पंजाब पुलिस का पहरा होने से शरारतीतत्व वहां से निकलने की हिम्मत नहीं जुटा सके। मतगणना स्थल पर भी सीआइएसफ की तैनाती होने से स्थानीय पुलिस को किसी तरह की मशक्कत नहीं करनी पड़ी। इसके साथ ही ड्रोन से सुरक्षा का जायजा लिया गया। मतगणना सकुशल संपन्न होने पर पुलिस ने चैन की सांस ली।

गुरुवार को हाइवे से मतगणना स्थल तक पैरामिलिट्री और स्थानीय पुलिस का कड़ा पहरा बैठाया गया था। हाईवे पर मुख्य द्वार से अंदर घुसते ही पंजाब पुलिस द्वारा चेकिग के बाद ही हर किसी को जाने दिया गया। पुलिस का कड़ा पहरा देख किसी प्रत्याशी के समर्थकों का जमावड़ा तक नहीं लग सका। सुबह छह बजे से ही मतगणना स्थल पर सीओ सिटी, सीओ पुरवा, सीओ सफीपुर, बीघापुर फोर्स के साथ गेट पर ही मुस्तैद रहे। मुख्य द्वार पर मेटल डिटेक्टर का पहरा था। अंदर जाने वाला प्रत्याशी हो या उसका एजेंट कार्ड चेक करने के बाद ही उसे अंदर जाने दिया गया। महिला पुलिस कर्मियों को हैंड हेल्ड डिटेक्टर के साथ लगाया गया था। मतगणना हाल पूरी तरह से पैरामिलिट्री के कब्जे में रहा। डीएम देवेंद्र कुमार पांडेय और एसपी एमपी वर्मा घूम-घूमकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते रहे।

-----------

प्रत्याशी के कार्यालय तक टोल लेती रही खूफिया

- मतगणना शुरू होने से पहले एलआइयू टीम ने स्निफिर डॉग एसएचएमडी व अन्य उपकरणों के साथ पूरे मतगणना स्थल, परिसर व आसपास क्षेत्रों की विधिवत चेकिग के साथ चप्पा-चप्पा खंगाला। इसके साथ खुफिया को दिए गए 30 अतिरिक्त जवान पूरे दिन मतगणना केंद्र से प्रत्याशी के कार्यालय तक हर गतिविधि पर नजर रखे रहे।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran