मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, उन्नाव : सीबीआइ की टीम सोमवार को ¨सचाई विभाग के गेस्ट हाउस पहुंची। वहां टीम ने करीब एक घंटे तक दुष्कर्म पीड़ित किशोरी की चाची से बंद कमरे में पूछताछ कर बयान दर्ज किए। टीम यह जानने की कोशिश करती रही कि दुष्कर्म मामले में किशोरी और चाची के बीच क्या बातचीत हुई। उसने उन्हें कब कैसे और क्या-क्या बताया।

सोमवार दोपहर करीब तीन बजे सीबीआइ टीम के वरिष्ठ अधिकारियों ने पीड़िता के परिवार के सभी सदस्यों से मुलाकात की। उसके बाद एक कमरे में पीड़िता की दिल्ली में रहने वाली चाची को बुलाया। उनसे अकेले कमरे में बात की। जिसमें उन्होंने किशोरी के दिल्ली पहुंचने का दिन, घटना की जानकारी होने का दिन और क्या-क्या बातें पीड़िता ने बताईं, इन सभी ¨बदुओं पर 30 से अधिक सवाल किए। चाची के बयान दर्ज करने के बाद करीब सवा चार बजे सीबीआइ टीम बाहर निकली।

---------------

आज सीबीआइ सुनेगी परिवार की बात

पीड़ित किशोरी की चाची से पूछताछ करने के बाद जैसे ही सीबीआइ बाहर निकली तो बाहर बैठे किशोरी के चाचा ने सीबीआइ से भाई के हत्यारोपी विधायक के भाई की एक ही गाड़ी बरामद करने पर सवाल खड़े किए। पीड़िता के चाचा ने कहा कि आरोपियों को रिमांड से वापस कर दिया गया लेकिन अभी तक सीबीआइ ने उनके उन हथियारों को बरामद नहीं किया जिनसे उसके भाई की पिटाई की गई थी। आरोपी घटना के वक्त दो गाड़ियों से था लेकिन उसकी एक ही गाड़ी अब तक बरामद हो सकी है। उसके बाद भी उन्हें वापस जेल भेज दिया। इस पर सीबीआइ के एक अधिकारी ने कहा कि इस पूरे मामले की जांच दो टीमें कर रही है। मंगलवार को दोनों टीमें फिर से आएंगी तभी इस बाबत बात होगी।

----------------

स्टे के बाद भी दबिश देने दिल्ली पहुंचे थे दारोगा

दुष्कर्म पीड़िता के चाचा ने घटना के बाद से लेकर भाई की मौत तक का हाल मीडिया को सुनाया। उन्होंने बताया कि अब तक करीब पांच सैकड़ा से अधिक शिकायती पत्र विभिन्न पटलों पर डाल चुके हैं। सोशल मीडिया के जरिए भी अधिकारियों को जगाने का प्रयास किया। इसके बाद भी कोई ध्यान नहीं दिया गया। उन्हें रोकने के लिए फर्जी मुकदमे दर्ज किए गए। उन पर स्टे होने के बाद भी माखी पुलिस के दारोगा कई बार उसके दिल्ली स्थित घर पर दबिश देने के लिए पहुंचे लेकिन उसके शिकायती पत्रों पर कोई सुनवाई नहीं की। सोमवार को पीड़िता के चाचा ने चर्चा में चल रहे लापता चचेरे भाई ¨टकू का फोटो भी लोगों को दिखाया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप