उन्नाव (जेएनएन)। भारतीय जनता पार्टी के फायरब्रांड नेता तथा उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज ने अयोध्या में श्रीराम के मंदिर बनने के माहौल के बीच में नया राग छेड़ा है। साक्षी महाराज ने दिल्ली की जामा मस्जिद को तोडऩे की मांग रखी है। उनका दावा है कि जामा मस्जिद के नीचे देवी-देवताओं की मूर्तियां हैं। अगर मूर्तियां न मिलें तो मैं फांसी पर लटकने को तैयार हूं।

अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण का रास्ता अभी साफ भी नहीं हुआ कि भारतीय जनता पार्टी के नेता साक्षी महाराज ने लोकसभा चुनाव से पहले ही एक और नया राग अलाप दिया। भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने एक और चौंकाने वाला दावा किया है कि दिल्ली की जामा मस्जिद को ध्वस्त कर देना चाहिए क्योंकि यह एक हिंदू मंदिर के स्थान पर बनाया गया है।

उन्नाव में फायरब्रांड नेता साक्षी महाराज ने दिल्ली की जामा मस्जिद को ध्वस्त यानी तोडऩे का आह्वान किया और दावा किया कि उसकी सीढिय़ों से देवताओं की मूर्तियां निकलेंगी। उन्होंने आगे कहा कि मैं जब राजनीति में आया था, तब मैंने कहा था कि काशी, मथुरा, अयोध्या छोड़ो, जामा मस्जिद तोड़ो। उसकी सीढिय़ों से अगर भगवान की मूर्तियां ना निकलें तो मुझे फांसी पर लटका देना। साक्षी महाराज ने यह भी दावा किया कि मुगलों ने पूरे भारत में मंदिरों को तोड़ा और उनकी जगह पर करीब 3000 से अधिक मस्जिदों का निर्माण कराया। उन्होंने ऐसा हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने के लिए किया।

दिल्ली की जामा मस्जिद पर भी साक्षी महाराज ने विवादित बयान दे डाला। उन्होंने कहा कि मैं आज से उल्टा सीधा नहीं बोलने लगा हूं। साक्षी महाराज ने कहा कि राजनीति में आने पर मेरा पहला स्टेटमेंट था 'अयोध्या मथुरा काशी तो छोड़ो, दिल्ली की जामा मस्जिद को तोड़ो अगर सीढिय़ों के नीचे मुर्तियां न निकले तो मुझे फांसी पर लटका देना' और आज भी मैं अपने इस बयान पर कायम हूं। साक्षी महाराज ने कहा कि मुगलकाल में हिंदुओं के सम्मान के साथ खिलवाड़ किया गया, मंदिर तोड़े गए और मस्जिद बनाए गए।

उन्नाव से सांसद साक्षी महाराज हमेशा ही अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं। अब उनका यह बयान उस समय आया है जबकि अयोध्या में शिवसेना के साथ विश्व हिंदू परिषद तथा संत-महात्मा राम मंदिर की मांग को तेज कर रहे हैं। आरएसएस के मुखिया मोहन भागवत ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश लाने की मांग कर चुके हैं। राम मंदिर मुद्दे पर साक्षी महाराज ने कहा कि मैं सुप्रीम कोर्ट की भर्त्सना करता हूं। सुप्रीम कोर्ट ने तमाम अनावश्यक मामलों में निर्णय दे दिए. लेकिन अयोध्या मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट टाल मटोल कर रहा है।

राम मंदिर को लेकर साक्षी महाराज ने कहा कि अब भाजपा सरकार से अपेक्षा है कि सोमनाथ की तर्ज पर लोकसभा में कानून बनाया जाए। लोकसभा चुनाव से पहले मंदिर निर्माण शुरू कर दिया जाए। चाहे सरकार को लोकसभा में अध्यादेश लाना पड़े या नरसिम्हा राव ने जो जमीन अधिग्रहित की, वो राम जन्मभूमि न्यास को देनी पड़े।

औरेया में उन्होंने आज की पीढ़ी के कथावाचकों को जमकर खरी-खोटी सुनाई। साक्षी महाराज ने कहा ऐसे भी कथावाचक हैं जो श्रीमद् भागवत कथा का क,ख,ग भी नहीं जानते हैं। इतना ही नहीं साक्षी महाराज ने खुद का हवाला देते हुए आज के कथावाचकों को नसीहत दे डाली। साक्षी महाराज यूपी के औरैया जिले में चली रही श्रीमद् भागवत कथा के आखिरी दिन पहुंचे थे। अछल्दा कस्बे के पुरानी अछल्दा में चल रही श्रीमद् भागवत कथा के आखिरी दिन भाजपा के उन्नाव से सांसद आचार्य महामंडलेश्वर डॉ. स्वामी सच्चिदानंद हरि साक्षी महाराज ने कहा कि राजनीति में आने से पहले वह भी कथा और प्रवचन किया करते थे। साक्षी महाराज ने कहा कि जब देवी देवताओं के समय में कोई मनुष्य धरती पर भागवत कथा करवाता था, उसे सुनने के लिए देवता भी तरसते थे। देवता परीक्षित से कहते थे कि मुझसे सोने का मटका ले लो और मुझे भागवत कथा का रसपान करवा दो।

गौरतलब है कि दिल्ली की जामा मस्जिद भारत के सबसे बड़े मस्जिदों में से एक है, जिसका निर्माण मगल सम्राट शाहजहां ने वर्ष 1644 और 1656 के बीच किया था। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस