Move to Jagran APP

यूपी में दिनदहाड़े 20 राउंड फायरिंग: कब्जे को लेकर जमकर हुआ बवाल, सुरक्षा में लाठी-डंडे लेकर खड़े हुए ग्रामीण

उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के सुखलाल खेड़ा में खेत पर कब्जे को लेकर दिनदहाड़े 20 राउंड फायरिंग हुई। कुछ किसानों के खेत पर कब्जे को लेकर लगभग 50 लोगों ने जमकर उत्पात मचाया। फायरिंग में एख युवक के दाहिने हाथ में गोली लगी है। वहीं एक गोली युवक की पसली को छूते हुए निकल गई। पुलिस ने उसे इलाज के लिए अस्पताल भेजा।

By ankit mishra Edited By: Abhishek Pandey Wed, 10 Jul 2024 11:37 AM (IST)
यूपी में दिनदहाड़े 20 राउंड फायरिंग: कब्जे को लेकर जमकर हुआ बवाल, सुरक्षा में लाठी-डंडे लेकर खड़े हुए ग्रामीण
सुखलाल खेड़ा में स्वयं की सुरक्षा में लाठी-डंडे लेकर खड़े लोग। जागरण

संवाद सहयोगी, शुक्लागंज। गंगाघाट क्षेत्र के सुखलाल खेड़ा में मंगलवार दोपहर लगभग पौने दो बजे कुछ किसानों के खेत पर कब्जा करने पहुंचे लगभग आधा सैकड़ा लोगों ने वहां जमकर उत्पात मचाया। किसानों का आरोप है कि दबंगों ने लगभग 20 राउंड फायरिंग की और एक बाइक में तोड़फोड़ की है। एक युवक के दाहिने हाथ में दो गोली लगी हैं। वहीं एक गोली युवक की पसली को छूते निकल गई।

पुलिस ने उसे उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजा है, जहां से उसे कानपुर के उर्सला अस्पताल रेफर कर दिया गया है। वहीं अन्य किसानों ने किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई। पुलिस ने दो युवकों को पकड़कर कोतवाली लाई है।

खेत पर कब्जा को लेकर हुआ बवाल

गांव के किसानों ने बताया कि गांधीनगर निवासी दीपू शुक्ला सुखलाल खेड़ा में प्लाटिंग करा रहा है। सुखलाल खेड़ा के रहने वाले रामबालक, शिव सागर अनिल कुमार व राजेंद्र का आरोप है कि खेत पर कब्जा करने की नियत से मंगलवार दोपहर को उसके लगभग आधा सैकड़ा साथी युवकों ने वहां धावा बोल दिया।

विरोध करने पर असलहों से फायरिंग करने लगे। जिससे वह लोग जान बचाकर भागे। घटना में सुखलाल खेड़ा के रहने वाले सोनू निषाद के दाहिने हाथ के बाजू में दो गोली लगी हैं। जब कि एक गोली पसली के पास की खाल को छूते हुए निकल गई। पुलिस ने घायल को उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजा जहां से उसे कानपुर के उर्सला अस्पताल रेफर कर दिया गया।

पुलिस कर रही मामले की जांच

गांव वालों ने बताया कि लगभग आधे घंटे तक बवाल मचा रहा। वहां खड़ी एक बाइक को तोड़ डाला गया। गांव के लोगों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस के पहुंचने से पहले सभी भाग निकले। मौके पर कारतूस का एक खाली रैपर पड़ा मिला है। पुलिस घटनास्थल पर जांच कर रही है।

गंगाघाट कोतवाल आरपी प्रजापति ने बताया कि मोनू व उसके भाई शोभित को पकड़कर कोतवाली लाया गया है। पूछताछ की जा रही है। शाम सात बजे तक किसी ने कोई तहरीर नहीं दी है। कोतवाली पहुंची सीओ सिटी सोनम सिंह ने बताया कि जमीनी विवाद को लेकर सुखलालखेड़ा में हवाई फायरिंग हुई है। जिसमें एक युवक घायल हुआ है। सीओ ने देर शाम घटना स्थल का निरीक्षण किया। बताया कि जांच की जा रही है।

गोली लगने की बात बाद में आई सामने

सुखलालखेड़ा में हुई फायरिंग से दोपहर तक किसी के घायल होने की कोई बात सामने नहीं आई। वहीं बाद में पता चला कि गोली लगने से सोनू निषाद घायल हुआ है। उसके हाथ के बाजू में दो गोली लगी हैं। जब कि एक गोली पसली को छूते हुए निकल गई है। कोतवाल का कहना है कि गोली लगने वाले स्थान पर काला स्पॉट है। ऐसा पास से गोली लगने की दशा में पाया जाता है। मामले की जांच कर सच्चाई का पता लगाया जा रहा है।

गांव में दहशत, सुरक्षा में लाठी-डंडे लेकर खड़े रहे लोग

सुखलालखेड़ा में फायरिंग के बाद माहौल बिगड़ गया। गांव में दहशत फैल गई। स्वयं की सुरक्षा के लिए गांव के लोग हाथों में लाठी डंडे लेकर खड़े रहे। गांव के लोगों का कहना रहा कि अपनी सुरक्षा अब खुद से करनी पड़ेगी। जिसके लिए लिए वह लोग अब लाठी डंडे लेकर खेतों में काम करेंगे।

ग्रामीण बोले : फायरिंग करने वाले कोबरा गैंग के थे

सुखलालखेड़ा के रहने वाले लोगों का कहना रहा कि दीपेंद्र शुक्ला उर्फ दीपू वहां पर लगभग 50 बीघे जमीन पर प्लाटिंग कर रहा है। उसके पास अराजकतत्वों का आना जाना रहता है। आरोप है कि उसने राम बालक, शिवसागर, राजेंद्र व अनिल के तीन बीघा खेत पर ट्रैक्टर चलवा दिया। अनिल के बेटे मोनू ने जब विरोध किया तो लाठी डंडे निकल आए। आरोप है कि उसके बाद दीपू पक्ष के लोगों ने फायरिंग कर दी। जिससे लोग जान बचाकर भाग निकले।

इसे भी पढ़ें: कानूनगो ने किसान से मांगी थी सात हजार रुपये की रिश्वत, एंटी करप्शन टीम ने रंगे हाथों पकड़ा