जागरण संवाददाता, उन्नाव: फर्जी दस्तावेज लगा 12460 सहायक अध्यापक भर्ती में जगह बनाने वाले 11 आवेदकों का चयन मंगलवार को निरस्त कर दिए गए हैं। सभी के खिलाफ सदर कोतवाली में एफआइआर दर्ज करने के आदेश बीएसए ने खंड शिक्षाधिकारी नगर क्षेत्र को दिए। शिक्षा निदेशक (बेसिक) को रिपोर्ट सौंपते हुए विभागीय तौर पर जांच शुरू कराई गई।

12460 सहायक अध्यापक भर्ती में जिले को 126 पदों पर नियुक्तियां हुईं। इसमें गैर जनपद के आवेदकों की कट ऑफ मेरिट बना सीटें रिजर्व की गईं। बेसिक शिक्षा परिषद सचिव के आदेशानुसार सिर्फ इनके नियुक्ति पत्र रोके गए। क्योंकि, कुछ बीटीसी प्रशिक्षु ने कोर्ट में बाहरी अभ्यर्थियों के दस्तावेज पर उंगली उठा दी थी। उसे फर्जी बता जांच कराए जाने की मांग की। पूरा मामला जोर पकड़ता, इससे पहले जिला बेसिक शिक्षा मुख्यालय में कार्यवाही को दबाने के खेल शुरू हो गया। सूत्रों का कहना है कि इन अभ्यर्थियों को बचाने के लिए इनसे पटल पर 'कमाई' भी की गई। जिस कारण इन्हें बार-बार बचाने की कोशिश की। पटल पर दबाई जा रही कार्रवाई दैनिक जागरण ने लगातार उजागर की। शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़े में किस प्रकार से खेल हुए, इसका खुलासा भी किया गया। प्रकरण को शासन ने संज्ञान में लेते हुए उच्चस्तरीय जांच शुरू की। इसके बाद फर्जीवाड़े की फाइल पर सुनवाई शुरू हुई। बीएसए बीके शर्मा ने पकड़े गए सभी 11 आवेदकों के चयन को निरस्त किया है। एफआइआर के आदेश मंगलवार को किए।

Posted By: Jagran