सुलतानपुर : भारतीय जनसंघ के संस्थापक व प्रखर शिक्षाविद रहे डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की 68वीं पुण्यतिथि बुधवार को मनाई गई। जिले के 26 मंडलों और 2116 बूथों पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित हुआ। कार्यकर्ताओं ने डा. मुखर्जी के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। वक्ताओं ने कहा कि डा. मुखर्जी ने एक भारत, श्रेष्ठ भारत का सपना देखा था, जो कि अब साकार हो रहा है। कार्यकर्ताओं ने इस अवसर पर पौधारोपण अभियान की शुरुआत की। पार्टीजन ने सभी बूथों पर पौधा लगाकर डा. मुखर्जी के आदर्श और सिद्धांतों को अपनाने और धरती को हरा-भरा बनाने का संकल्प लिया।

डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी उद्यान में नगर अध्यक्ष आकाश जायसवाल के संयोजन में आयोजित कार्यक्रम में संगठन जिलाध्यक्ष डा. आरए वर्मा ने नीम व महुआ का पौधा रोप कर अभियान शुरू किया। उन्होंने कहा कि डा. मुखर्जी ने एकता और अखंडता का जो पाठ पढ़ाया था, वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में चरितार्थ होता दिख रहा है। सरकार ने अनुच्छेद 370 व 35 को समाप्त कर बड़ा काम किया है। पूर्व जिलाध्यक्ष करुणा शंकर द्विवेदी ने उनके व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर विस्तार से प्रकाश डाला।

पूर्व मंत्री ओमप्रकाश पांडेय, जगजीत सिंह छंगू, नगर पालिकाध्यक्ष बबिता जायसवाल, सहकारी बैंक अध्यक्ष विजय मिश्रा, सांसद प्रतिनिधि रणजीत कुमार, जिला महामंत्री विजय त्रिपाठी क्षेत्रीय महामंत्री सुशील त्रिपाठी व रूपेश सिंह सहित पार्टी पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद रहे।

नहीं हुआ शारीरिक दूरी का पालन :

पुण्यतिथि कार्यक्रम में कोरोना संक्रमण से बचाव की गाइड लाइन का पालन नहीं किया गया। जिला पंचायत परिसर के बगल स्थित उद्यान में जहां ज्यादातर भाजपाई बिना मास्क के दिखे। वहीं, शारीरिक दूरी का अनुपालन भी नहीं किया गया।

Edited By: Jagran