सुलतानपुर: जिलाधिकारी सी इंदुमती ने आयुष्मान भारत योजना की खराब प्रगति पर छह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारियों पर कार्रवाई की है। उन्होंने सभी से स्पष्टीकरण तलब किया है। साथ ही प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भदैया व करौदीकला के चिकित्साधिकारी के वेतन आहरण पर भी रोक लगा दी गई है।

डीएम कलेक्ट्रेट सभागार में योडीपीआरओ डाू निरीश चंद्र साहूजना की समीक्षा कर रही थी। उन्होंने कहा कि आयुष्मान योजना लाभ सब पात्र पा सकें इसका विशेष रूप से ध्यान दिया जाना चाहिए। उडीपीआरओ डा. निरीश चंद्र साहू ने सीएमओ डॉ सीबीन त्रिपाठी को कम से कम एक गोल्डन कार्ड धारक हर घर में होने का निर्देश दिया। साथ में यह भी सुनिश्चित किए जाए कि गोल्डन कार्ड धारक अनुबंधित अस्पताल से अपना इलाज करा सके। समीक्षा में प्रभारी चिकित्साधिकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कादीपुर, दूबेपुर, मोतिगर पुर व अखंडनगर के विरुद्ध संतोष जनक प्रगति न पाए जाने पर कारण बताओ नोटिस जारी कर जवाब तलब किया गया है। महिला उत्पीड़न पर रखी जाए नजर- डीएम

विकास कार्याें व शासन के महत्व पूर्ण बिंदुओं की समीक्षा के दौरान डीएम ने एसपी सिटी को महिला उत्पीड़न पर नजर रखने को कहा है। उन्होंने कहा कि इस पर अंकुश लगाया जाना चाहिए। धान क्रय केंद्रों से अकारण किसानों को वापस न किए जाने का निर्देश डीएम ने संबंधित अधिकारी को दिए हैं। साथ ही क्रय किए जाने का फोटो भी बनाने के लिए निर्देशित किया गया है। मिशन -1000 सहित शासन की 71 बिंदुओं प्लास्टिक कचरा के निस्तारण, पेयजल, मनरेगा, स्वयं सहायता समूह, स्वच्छ भारत मिशन आदि की समीक्षा में गुणवत्तापूर्ण कार्य कराने के निर्देश दिए गए। इस दौरान सीडीओ आरपी मिश्र, डीडीओ डॉ डीआर विश्वकर्मा, पीडी डॉ एसके द्विवेदी, डीएसटीओ पन्ना लाल आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस