सुलतानपुर : थानाक्षेत्र के लौहर दक्षिण गांव में प्रीतिभोज समारोह में हो रहे आर्केस्ट्रा के दौरान मामूली विवाद में एक युवक को गोली मार दी गई। गंभीर रूप से घायल युवक को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां से लखनऊ रेफर कर दिया गया। रास्ते में ले जाते वक्त उसकी मौत हो गई।

गांव के ही रामसुंदर श्रीवास्तव के यहां रविवार की रात प्रीतिभोज के बाद आर्केस्ट्रा कार्यक्रम चल रहा था। रसूलपुर गांव निवासी सैफ अली भी देखने गया था। इसी दौरान आगे बैठने के चक्कर में गांव के ही आदिल से उसकी बहस हो गई। आरोप है कि दोनों के बीच विवाद बढ़ा तो आदिल ने उस पर असलहे से फायर झोंक दिया। गोली सैफ गले में लगी और वह वहीं गिर गया। इस घटना के बाद भगदड़ मच गई और इसकी जानकारी डायल 112 व धम्मौर पुलिस को दी गई। थानाध्यक्ष अशोक कुमार ने बताया कि सैफ के मामा जमील खान की तहरीर पर हत्या का मुकदमा दर्जकर आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया। शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए गांव में पुलिस की तैनाती कर दी गई है।

मामा ने खरीदकर दिया था टेंपो

सैफ के पिता दस साल पहले मुंबई में लापता हो गए थे, जिनका आज तक पता चल सका। उसके पांच भाई व चार बहन हैं। सैफ की मां उसके भाई के साथ मुंबई में रहती हैं। मामा जमील ने टेंपो खरीदकर दिया था, जिसे वह भाईं बाजार से सुलतानपुर के बीच चलाकर परिवार का गुजर बसर कर रहा था। परिवारजनों के अनुसार उनकी आदिल से किसी तरह की दुश्मनी नहीं थी। इस घटना के बाद परिवार में कोहराम मचा हुआ है।

सिविल इंजीनियरिग का छात्र है आरोपित

आदिल लखनऊ में सिविल इंजीनियरिग की पढ़ाई कर रहा है। संगत गलत में पड़ने से उसकी आदत बिगड़ गई थी। थानाध्यक्ष ने बताया कि गोली मारने के बाद आदिल ने लोगों में दहशत फैलाने के लिए दो राउंड गोलियां चलाई थी। बहादुरपुर बड़े नहर के पास वह अपनी अपाचे बाइक से भागने की फिराक में था कि उसे दबोच लिया गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस