सुलतानपुर : जिला अस्पताल में व्याप्त अनियमितताओं व भ्रष्टाचार पर दैनिक जागरण की ओर से चलाए गए अभियान से शासन-प्रशासन हरकत में आ गए हैं। दो हफ्ते तक चले जागरण अभियान से वाकिफ हुए स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह के हस्तक्षेप पर डीएम ने सीडीओ की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय विशेष जांच टीम गठित की है, जिसने गुरुवार को अस्पताल में छापा मारा और पांच घंटे तक जांच-पड़ताल की। स्वास्थ्य कर्मियों व पैरा मेडिकल स्टाफ से बंद कमरे में पूछताछ की गई। अधिकारियों ने सीएमएस कार्यालय के एक-एक रजिस्टर को खंगाला। इस कार्रवाई से अस्पताल प्रशासन सकते में है। सांसद मेनका गांधी ने भी जागरण अभियान को आधार बनाकर स्वास्थ्य मंत्री से जिला अस्पताल की व्यवस्थाएं दुरुस्त कराने को कहा था।

गत बीस जून से पांच जुलाई तक दैनिक जागरण ने जिला अस्पताल में चिकित्सा व्यवस्था की बदहाली पर लगातार खबरें प्रकाशित की थी। ऑपरेशन के नाम पर मरीजों से की जा रही वसूली व दवा कंपनियों और डॉक्टरों के गठजोड़ को तथ्यों के साथ उजागर किया गया था। साथ ही सरकारी डॉक्टरों के निजी अस्पताल पर भी प्रहार किया गया, जिससे शासन-प्रशासन कार्रवाई के लिए मजबूर हो गया। गुरुवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे मुख्य विकास अधिकारी मधुसूदन हुल्गी, एसडीएम बल्दीराय प्रिया सिंह व एआरटीओ प्रशासन माला वाजपेयी अचानक जिला अस्पताल पहुंच गए। सबसे पहले उन्होंने ऑपरेशन थियेटर का निरीक्षण किया। ओटी के बाहर बैठे मरीजों व उनके रिश्तेदारों से पूछताछ की। इसके बाद वे सर्जिकल (महिला/पुरुष) वार्ड में पहुंच गए। भर्ती मरीजों से अस्पताल से मिल रही सुविधाओं के बारे में पूछा और फिर सीधे मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय जा पहुंचे। सीडीओ ने सीएमएस डॉ. वीबी सिंह को उनके दफ्तर से बाहर बैठा दिया। दोपहर करीब दो बजे तक बंद कमरे में संविदा स्टाफ नर्सों से अलग-अलग पूछताछ की गई। उपस्थिति पंजिका से लेकर सारे रजिस्टर व अन्य दस्तावेजों की जांच टीम ने गहन पड़ताल की। -अनियमितता की शिकायत पर डीएम ने जांच के निर्देश दिए हैं। विभिन्न बिदुओं पर पड़ताल की जा रही है। अभी जांच जारी है। बाद में इसकी रिपोर्ट बनाकर जिला प्रशासन को सौंपी जाएगी।

-मधुसूदन हुल्गी, सीडीओ

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran