सुलतानपुर : पूर्व प्रधानमंत्री व भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को भाजपाइयों ने शुक्रवार को बड़ी शिद्दत से याद किया। पार्टी कार्यालय में उनकी पहली पुण्यतिथि पर कार्यकर्ताओं ने उनके चित्र पर पुष्प व माला अर्पित किया। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि अटल बिहारी सिर्फ व्यक्ति नहीं, बल्कि वह विचार और संस्कार थे। उनके अंदर ²ढ़ता थी तो लचीलापन भी था। वह सच्चाई की राजनीति में विश्वास करते थे। उनके आदर्शों, सिद्धांतों को अपने जीवन में उतारना ही सच्चे अर्थो में श्रद्धांजलि है।

पार्टी कार्यालय में जिलाध्यक्ष जगजीत सिंह छंग्गू की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में डॉ.एमपी सिंह ने कहा कि अटल आज भले दुनिया में नहीं है, लेकिन उनकी स्मृतियां, संस्मरण, कृतियां, प्रेरणा, अनंतकाल तक लोगों का मार्गदर्शन करती रहेंगी। उन्होंने मूल्य व आदर्श आधारित राजनीति की शुरुआत की, जिससे देश में विकास व सुशासन युग प्रारंभ हुआ। उन्होंने मैं जी भर जिया, मैं मन से मरूं, लौटकर फिर आऊंगा , कूच से क्यों डरूं..अटल की रचित कविता भी सुनाई। अध्यक्ष छंगू ने कहा कि वह ऐसी शख्सियत थे कि जिनका सम्मान सभी दल के नेता करते थे। इस दौरान विधायक सूर्यभान सिंह, करुणाशंकर द्विवेदी, सुशील त्रिपाठी, अर्जुन सिंह, डॉ.आरए वर्मा, विजय सिंह, अजादार हुसैन आदि मौजूद रहे। धनपतगंज संवादसूत्र के अनुसार, शंकर गढ़ बाजार में भाजपाइयों ने विचार गोष्ठी आयोजित की। पूर्व जिला मंत्री बलराम मिश्र, मंडल अध्यक्ष उमाकांत शुक्ल, प्रदेश परिषद सदस्य जितेंद्र सिंह, जमुना पांडेय, शैलेन्द्र मणि त्रिपाठी, संदीप तिवारी, सुरेन्द्र यादव आदि मौजूद रहे। अटल की पहली पुण्यतिथि पर शेषकुमार सिंह, विनोद सिंह, अंकित कुमार मिश्र, डॉ आर के विश्वास, शीतला वर्मा, बब्बन चौबे, हरिनारायण मोदनवाल आदि भाजपाइयों ने श्रद्धांजलि दी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप