जासं, अनपरा (सोनभद्र) : खड़िया कोयला परियोजना में काम कर रही आउटसोर्सिग कंपनी बीपीआर में 80 फीसद क्षेत्रीय, विस्थापित बेरोजगारों की भर्ती को लेकर आगामी 20 अक्टूबर को सोनांचल संघर्ष वाहिनी ने आंदोलन का एलान किया है। वाहिनी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने रविवार को मीडिया से कहा कि जब तक परियोजनाओं में स्थानीय बेरोजगारों को नौकरी नहीं मिलती तब तक यह आंदोलन जारी रहेगा।

सोनांचल संघर्ष वाहिनी के अध्यक्ष रोशनलाल यादव ने कहा कि पूर्व में एनआईटी का समझौता है कि कोई भी आउट सोर्सिंग कंपनी एनसीएल में काम करेगी तो उसे 80 फीसद वहीं के स्थानीय बेरोजगारों को हरहाल में समायोजित करना पड़ेगा। इसका अनुपालन एनसीएल में काम कर रही कोई भी आउट सोर्सिंग कंपनी नहीं कर रही है। इससे क्षेत्रीय व विस्थापित बेरोजगारों की फौज बढ़ती जा रही है और पलायन करने को विवश हो रहे हैं। कहा कि स्थानीय बेरोजगारों के साथ हो रहे घोर अन्याय को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं करेगा। बताया कि 20 अक्टूबर को शक्तिनगर के पीडब्ल्यूडी मोड़ पर सोनांचल संघर्ष वाहिनी के कार्यकर्ता जुलूस निकालेंगे। इसमें पुष्पेंद्र चौधरी, सुखेन्द्र यादव मौजूद, विशाल दुबे, कृष्ण गोपाल, बलवंत यादव आदि थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप