जागरण संवाददाता, सोनभद्र : चोपन थाना क्षेत्र के रेड़िया स्थित सोन नद के किनारे आधा दर्जन से अधिक लोगों ने शनिवार की रात साढ़े 10 बजे वन दारोगा व एक वन कर्मी के कनपटी पर तमंचा लगाकर वाहन कब्जे से छुड़ाने का प्रयास किया। वन कर्मियों की पिटाई भी की गई। इस वाकये से वन विभाग में हड़कंप मच गया। वन दरोगा ने सात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के लिए तहरीर दी है।

कैमूर वन्य जीव प्रभाग मीरजापुर के जनपद सोनभद्र गुर्मा रेंज में रेड़िया गांव में सोन नद के समीप डंप बालू व अवैध खनन की शनिवार की रात वन दारोगा जयप्रकाश वर्मा व कर्मी उदय कुशवाहा को सूचना मिली। जानकारी मिलते ही दोनों रात साढ़े 10 बजे घटना स्थल पर पहुंचे। वन दारोगा मौके पर खड़े वाहन व अवैध खनन स्थल का निरीक्षण कर आगे की कार्यवाही कर ही रहे थे कि कार व मोटरसाइकिल से आधा दर्जन से अधिक लोग मौके पर पहुंचे और घेर लिया। इसी दौरान दो आरोपितों ने वन दारोगा व कर्मी के कनपटी पर तमंचा सटाने के बाद पिटाई कर दी। वन दारोगा समेत दोनों की पिटाई की गई लेकिन वे टीपर को ले जाने में कामयाब नहीं हो सके। इस वाकये की जानकारी मिलते ही कैमूर वन्य जीव प्रभाग मीरजापुर के प्रभागीय वनाधिकारी आशुतोष जायसवाल रविवार की सुबह घटना स्थल पर पहुंचे। वन कर्मियों की टीम ने छापेमारी कर आरोपितों की कार को बरामद कर लिया। वन दारोगा बांदा जनपद के पैलानी थाना क्षेत्र के महबरा मड़ौलीकलां गांव निवासी जय प्रकाश वर्मा पुत्र स्व. विजय पाल ने चोपन पुलिस को तहरीर दी है। जिसमें चोपन थाना क्षेत्र के सात लोगों को नामजद किया गया है। वन दरोगा ने दी गई तहरीर में आरोपितों को पेशेवर वन अपराधी बताया है। क्षेत्राधिकारी नगर राजकुमार त्रिपाठी के मुताबिक इस मामले में पटवध निवासी सूरज, आलोक, गुड्डू, संदीप, बृजेश, मंगल व नंदू के खिलाफ तहरीर दी गई है। मामले की जांच की जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस