जागरण संवाददाता, ओबरा (सोनभद्र) : गत 14 अक्टूबर 2018 को केबिल गैलरी में लगी आग की वजह से बंद हुईं ओबरा ब तापघर की इकाइयों को चालू करना उत्पादन निगम के लिए किसी बड़ी चुनौती से कम नहीं है लेकिन तीन इकाइयों को समय से पहले चालू कर परियोजना प्रशासन ने बड़ी मिसाल प्रस्तुत की है। अब अग्निकांड में सबसे ज्यादा नुकसान झेलने वाली 12 वीं और 13 वीं इकाई को चालू करना निगम प्रबंधन के लिए चुनौती है।

आग से ओबरा की 12 वीं इकाई का कंट्रोल रूम, स्वीच गेयर रूम एवं केबिल गैलरी पूरी तरह खाक हो गई थी। साथ ही इकाई के अचानक बंद होने के कारण टरबाइन को भी भारी नुकसान पहुंचा था। टरबाइन का ल्यूब आयल सिस्टम फेल हो गया है। मेटल फिक्सन के कारण रोटर और बेयरिग के हिस्से काफी क्षतिग्रस्त हो गये हैं। भेल को दिए गए कार्य में टरबाइन की सभी बेयरिग को बदला जा रहा है। इसके अलावा 13 वीं इकाई के कंट्रोल रूम को काफी क्षति पहुंची है। तीन इकाइयां समय से पहले हुईं चालू

अग्निकांड में बंद हुई 200 मेगावाट वाली नौवीं और दसवीं इकाई को 60 दिनों में चालू करने का लक्ष्य रखा गया था लेकिन परियोजना प्रशासन ने 32 दिनों में 16 नवंबर 2018 की देररात को नौवीं इकाई को पुन: लाइट अप कर दिया था। उसके बाद लगभग 40 दिनों बाद 24 नवंबर को दसवीं इकाई को चालू कर दिया था। इसके अलावा 11 वीं इकाई को 120 दिनों में चालू करने का लक्ष्य दिया गया था। जिसे 55 दिनों बाद ही नौ दिसम्बर 2018 को सिक्रोनाइज कर दिया गया था। उत्पादन निगम के तत्कालीन निदेशक तकनीकी इं.बीएस तिवारी ने पूर्व में बताया था कि 12 वीं इकाई को 15 फरवरी 2020 तक चालू करने का लक्ष्य तय किया गया है। इसके अलावा भेल द्वारा जीर्णोद्धार में चल रही 13 वीं इकाई को मई 2020 तक चालू करने का लक्ष्य है। हालांकि स्थानीय प्रशासन दिसंबर में ही 12 वीं को सिक्रोनाइज करने में जुटा हुआ है। ऐसे में तय समय पर बीएचईएल को इकाइयों को चालू करने में भारी मशक्कत करनी पड़ेगी। 12 वीं और 13 वीं के लिए 185 करोड़

ओबरा ताप विद्युत गृह की केबिल गैलरी में आग लगने के बाद क्षतिग्रस्त ब तापघर की इकाई संख्या 12 एवं 13 के रिवाइवल हेतु 185 रुपया व्यय होगा। प्रदेश कैबिनेट द्वारा कुछ माह पहले इसे स्वीकृति दी जा चुकी है। 12 वीं और 13 वीं का रिवाइवल बीएचईएल (भेल) द्वारा किया जा रहा है। बोले अधिकारी

दोनों इकाइयों में युद्धस्तर पर कार्य चल रहा है। 12 वीं इकाई को 12 दिसंबर 2019 तथा 13 वीं इकाई को 13 मई 2020 तक सिक्रोनाइज करने का लक्ष्य है।

इं.सीपी मिश्रा, मुख्य महाप्रबंधक, ओबरा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप