दुद्धी (सोनभद्र), जागरण संवाददाता: प्राथमिक विद्यालय पगडेवा में अधूरा बनकर खड़ा गेट दो दिन पूर्व गिरने से तीन बच्चे दबकर घायल हो गए थे। इसमें कक्षा एक का छात्र श्लोक पटेल गंभीर रूप से घायल हुआ था, जिसे सीएचसी से ट्रामा सेंटर वाराणसी रेफर कर दिया गया था। वहां उपचार के दौरान शनिवार को उसकी मौत हो गई। हादसे में दो बच्चों को हल्की चोट आई है। 

मामले को दो दिन तक दबाए रखा गया। रविवार को इस मामले की जानकारी होने के बाद बेसिक शिक्षा अधिकारी हरिवंश कुमार ने विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक मोबिन को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। मामले की जांच खंड शिक्षा अधिकारी को सौंपी गई है। 

तीन सदस्यीय जांच कमेटी गठित

उधर, जिला पंचायत राज अधिकारी विशाल सिंह ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित की और तीन दिन में रिपोर्ट तलब किया है। जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह ने कहा कि जांच कराकर उचित कार्रवाई की जाएगी। 

अगस्त में शुरू हुआ कायाकल्प कार्य

जानकारी के मुताबिक, पगडेवा प्राथमिक विद्यालय में कायाकल्प का कार्य जुलाई से प्रधान ने शुरू कराया था। अगस्त में बाउंड्री व दीवार का प्लास्टर तोड़कर छोड़ दिया गया था। कार्य इस समय बंद चल रहा था। दो दिसंबर को विद्यालय में नेट परीक्षा संपन्न होने के बाद विद्यालय में मोबाइल नेटवर्क न होने के कारण अध्यापक विद्यालय बंद कर वहां से कुछ दूर स्थित पहाड़ी पर चले गए ताकि नेट आने पर ओएमआर सीट स्कैन किया जा सके। 

इसी दौरान कुछ बच्चे जर्जर पड़े मुख्य लोहे के गेट पर चढ़ कर खेलने लगे। गेट का पिलर कमजोर होने के कारण वह दबाव पड़ने पर गिर पड़ा, जिससे तीन बच्चे तो मामूली रूप से घायल हुए किंतु श्लोक पटेल (7 वर्ष) पुत्र सुरेंद्र पटेल गंभीर रूप से घायल हो गया। 

वाराणसी ट्रामा सेंटर में हुई मौत

हादसे के बाद वहां तैनात शिक्षक अन्य ग्रामीणों की मदद से घायल बच्चे को लेकर दुद्धी अस्पताल पहुंचाया गया। हालत गंभीर देख चिकित्सक ने बच्चे को वाराणसी ट्रामा सेंटर के लिए रेफर कर दिया। इलाज के दौरान बालक की मौत हो गई। रविवार की सुबह बालक का दाह संस्कार गांव में ही किया गया। मृत बालक के अलावा किसी बच्चे के घायल होने की बात से प्रशासन इनकार कर रहा है।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट