जागरण संवाददाता, महुली/विढमगंज (सोनभद्र ) : झारखंड के गढ़वा जक्शन से सोनभद्र के चोपन जंक्शन तक अब ट्रेन 100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ेगी। इसको लेकर रेलवे ट्रैक के दोहरीकरण का कार्य विभिन्न क्षेत्रों में चल रहा है। दुद्धी से सटे महुअरिया रेलवे स्टेशन से विढमगंज स्टेशन के बीच ट्रैक के दोहरीकरण का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। मंगलवार को इस ट्रैक का परीक्षण किया गया। इस ट्रैक पर 100 से 110 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से स्पेशल सैलून ट्रेन दौड़ाकर परीक्षण किया गया। चीफ रेलवे सेफ्टी (सीआरएस) पूर्वी प्रमंडल अनंत मधुकर, चीफ एडमिनिस्ट्रेशन आफिसर दिनेश कुमार व डीआरएम आशीष बंसल मंगलवार को दोपहर बाद महुअरिया रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। इसके बाद अफसरों की टीम ने नवनिर्मित प्लेटफार्म नंबर एक से प्लेटफार्म नंबर दो पर जाने के लिए ओवरब्रिज का शुभारंभ किया, फिर विढमगंज रेलवे स्टेशन पर खड़ी स्पेशल सैलून तीन बजे महुअरिया रेलवे स्टेशन पर पहुंची। यहां से अधिकारी सैलून पर सवार हुए और महुअरिया से विढमगंज के बीच दौड़ाकर रेलवे ट्रैक का परीक्षण किया। इसके पूर्व अफसरों ने इंस्पेक्शन ट्राली से विढमगंज रेलवे स्टेशन पर सैलून ट्रेन से उतर कर नवनिर्मित पुलिया का बारीकी से निरीक्षण करते हुए सीआरएस ट्रैक का निरीक्षण किया। रेलवे के सहायक अभियंता पीके श्रीवास्तव ने बताया कि विढमगंज -महुअरिया रेलवे स्टेशन के बीच बने डबल रेलवे लाइन, छोटी छोटी पुलिया का ट्रायल लिया गया। इस दौरान विढमगंज रेलवे स्टेशन व महुअरिया रेलवे स्टेशन पर स्थानीय ग्रामीणों की भीड़ लगी रही। रेलवे की ओर से पूर्व में ही ग्रामीणों से अपील की गई थी कि ट्रैक परीक्षण के दौरान कोई भी ग्रामीण रेलवे लाइन के समीप न आये और न ही अपने मवेशियों को लाइन की तरफ आने दे, जिससे हाई स्पीड ट्रेन का ट्रायल के समय किसी भी अप्रिय घटना से बचा जा सके। गौरतलब है कि गढ़वा से चोपन के बीच सौ किमी प्रति घंटा की रफ्तार से ट्रेन के संचालन के लिए रेलवे ट्रैक के दोहरीकरण का कार्य चल रहा है। कुछ जगहों पर कार्य पूर्ण हो गया है तो कुछ जगहों पर बाकी रह गया है। जहां कार्य पूर्ण हुआ है उतनी दूर तक रेलवे ट्रैक का मंगलवार को परीक्षण किया गया है। ग्रामीणों ने सौंपा ज्ञापन, पुलिया के अंदर से रोड बनाने की मांग

महुअरिआ रेलवे स्टेशन पर रेलवे के उच्चाधिकारियों के आने की सूचना पर मंगलवार को दर्जनों ग्रामीण ग्राम प्रधानों के अगुवाई में स्टेशन पर पहुंच गए। यहां ग्रामीणों ने अफसरों से महुअरिया रेलवे स्टेशन के पास 166 नंबर पुलिया के अंदर से रोड बनाने के साथ ही आवागमन बहाल करने की मांग की। महुअरिया रेलवे स्टेशन पर त्रिवेणी एक्सप्रेस, शक्तिपुंज एक्सप्रेस, सिगरौली पटना एक्सप्रेस के ठहराव की मांग संबंधी पत्र सौंपा। इस दौरान ग्राम प्रधान पतरिहा किरण चौबे, पोलवा ग्राम प्रधान राकेश कुमार गुप्ता, जोरूखाड ग्राम प्रधान विमल यादव, जाताजुवा ग्राम प्रधान नंदकुमार, जामपानी ग्राम प्रधान सहित सेकरार अहमद आदि रहे।

Edited By: Jagran