भूमि का सीमांकन, रेलवे ने बनाई बार्डर लाइन

जागरण संवाददाता, अनपरा (सोनभद्र) : जिला प्रशासन की ओर से गत दिनों कृष्णशिला रेलवे साइडिंग के समीप बगैर अनुमति के एनसीएल की 32 बीघा भूमि पर भंडारण किए गए 10 लाख टन कोयला जब्त कर ली गई है। इस कार्रवाई के बाद ककरी व बीना कोल परियोजना ने रेलवे व एनसीएल की भूमि का सीमांकन कर झंडी लगा दी है।

रेलवे की सीमा पर नाली की खोदाई कर बैरिकेडिंग करने की योजना है। परियोजना प्रबंधन का कहना है कि एनसीएल की भूमि पर भंडारित कोयला हटाने के बाद पूरे क्षेत्र में पौधारोपण किया जायेगा। कोयला सीज होने के बाद से कोलयार्ड में तमाम दुश्वारियां उत्पन्न होने लगी हैं। कोयले में आग लगी हुई है। आग से बचाव के लिए किसी भी विभाग ने सार्थक कदम नहीं उठाया। कुछ जगहों पर भंडारित कोयले के नीचे रेलवे व परियोजना की बिजली की केबिल बिछाई गई है, जिसके क्षतिग्रस्त होने की आशंका है।

रेलवे साइडिंग के दायरे में डंप कोयले की लोडिंग हो रही है। अब कोयले की आपूर्ति बंद है। पूर्ण क्षमता से रेल रैक लोड नहीं हो पा रहे हैं, जिससे रेलवे को प्रतिदिन लाखों रुपये की क्षति हो रही है। कोयले को लेकर ट्रांसपोर्टरों की सांस थम गई हैं। एडीएम सहदेव मिश्र ने कहा कि कोयला भंडारित क्षेत्र से संबंधित जो दस्तावेज प्रस्तुत किए गए हैं उसे शासन को भेजकर वस्तुस्थिति से अवगत करा दिया गया है। वहां से निर्देश मिलने के बाद अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Jagran